स्पेश एक्स द्वारा 60 स्टारलिंक नेटवर्क उपग्रह प्रक्षेपित

अमेरिकी में निजी क्षेत्र की अंतरिक्ष कंपनी स्पेश-एक्स ने स्टारलिंक नेटवर्क के लिए 23 मई, 2019 को 60 उपग्रहों को प्रक्षेपित किया। इन उपग्रहों को फाल्कन-9 रॉकेट से केप...

इसरो ने RISAT-2B सैटेलाइट तैयार किया

भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (ISRO) ने राडार इमेजिंग सैटेलाइट 'RISAT 2B' को तैयार किया है। यह उपग्रह आसमान में बादल होने के बावजूद भी दिन तथा रात में पृथ्वी...

गूगल ने डायरेक्ट स्पीच टू स्पीच ट्रांसलेशन सिस्टम की घोषणा की

सर्च इंजन गूगल ने अपने पहले ‘डायरेक्ट स्पीच टू स्पीच ट्रांसलेशन सिस्टम’ की घोषणा की है। गूगल की इस नई मौखिक संचार प्रणाली का नाम ट्रांसलेटोट्रोन रखा गया है।...

जापान ने विश्व की सबसे तेज़ बुलेट ट्रेन ‘अल्फ़ा-एक्स’ का परीक्षण किया

जापान ने विश्व की सबसे तेज़ शिन्कासेन बुलेट ट्रेन 'अल्फ़ा-एक्स' का परीक्षण शुरू किया, यह ट्रेन 400 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति प्राप्त करने में सक्षम है। ध्यान देने योग्य...

डेंगू की पहली टीका ‘डेंगवैक्सिया’ को यूएसएफडीए की सशर्त अनुमति

संयुक्त राज्य अमेरिका खाद्य एवं औषधि प्रशासन (USFDA) ने डेंगू बीमारी की पहली टीका ‘डेंगवैक्सिया’ (Dengvaxia) को कुछ शर्तों के साथ उपयोग की मंजूरी दे दिया है। शर्तें इसलिए...

भारत में शिगेल्लोसिस की पहली टीका विकसित

भारतीय वैज्ञानिकों ने शिगेल्लोसिस (Shigellosis) नामक बीमारी के इलाज के लिए पहली टीका का विकास किया है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर), राष्ट्रीय हैजा एवं आंत्र रोग संस्थान (National...

‘रावण-1’ नामक श्रीलंका का प्रथम उपग्रह प्रक्षेपित

श्रीलंका का प्रथम उपग्रह ‘रावण-1’ (Raavana-1) 18 अप्रैल, 2019 को अमेरिका के वर्जिनिया स्थित नासा के प्रक्षेपण केंद्र से प्रक्षेपित किया गया। 1.05 किलोग्राम वजनी इस उपग्रह का जीवनकाल...

ब्रह्मांड में पहली बार हीलियम हाइड्राइड नामक प्रथम अणु की खोज

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने विश्व की सबसे बड़ी आकाशीय वेधशाला नासा के ‘स्ट्रैटोस्फेरिक ऑब्जरवेटरी फॉर इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी’ यानी सोफिया (SOFIA) का इस्तेेमाल करते हुए हमारे अपने...

नेपाल ने अपना पहला उपग्रह ‘नेपालीसैट-1’ सफलतापूर्वक लॉन्च किया

हाल ही में नेपाल ने अपना पहला उपग्रह 'नेपालीसैट-1' सफलतापूर्वक लॉन्च किया है। नेपाल एकेडमी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (NAST) के अनुसार, नेपाल के वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किये गए...

शनि ग्रह के चन्द्रमा टाइटन पर तरल मीथेन पायी गयी

नासा के कैसिनी स्पेसक्राफ्ट का डाटा उपयोग करके शनि ग्रह के टाइटन चंद्रमा पर तरल मीथेन मौजूद होने के संकेत मिले हैं। यह मीथेन 100 मीटर गहरे गड्डों में...

Follow Us

8,890FansLike
2,458FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts