33वां आसियान सम्मेलन 2018 | सिंगापुर

0
226

दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों यानी आसियान का 33वां वार्षिक सम्मेलन सिंगापुर में 13 नवंबर को आरंभ होगा। मुख्य वार्ता सुंतेक कंवेंशन सेंटर में आयोजित होगी जहां आसियान के दस सदस्य देश विभिन्न मुद्दों पर विचार करेंगे। इस सम्मेलन की अध्यक्षता सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग कर रहे हैं। इस सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

आसियान की स्थापना 8 अगस्त, 1967 को बैंकॉक में हुई थी। इसकी स्थापना बैंकॉक घोषणापत्र के तहत हुई है। इसका मुख्यालय इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में है। आसियान के दस सदस्य हैंः इंडोनेशिया, थाईलैंड, सिंगापुर, फिलिपींस, मलेशिया, वियतनाम, म्यांमार, कंबोडिया, ब्रुनेई व लाओस।

मुख्य तथ्य:

  • भारत वर्ष 1992 में इसका क्षेत्रीय वार्ता भागीदार तथा वर्ष 1995 में पूर्ण वार्ता भागीदार देश बना।
  • पहला भारत-आसियान सम्मेलन 2002 में कंबोडिया के नोम पेन्ह में आयोजित हुआ।
  • वर्ष 2003 में भारत एवं आसियान के बीच व्यापक आर्थिक सहयोग फ्रेमवर्क एग्रीमेंट हुआ।
  • भारत-आसियान के बीच वस्तु व्यापार समझौता 1 जनवरी, 2010 को लागू हुआ।
  • भारत-आसियान के बीच व्यापार एवं निवेश समझौता 1 जुलाई, 2015 को लागू हुआ।
  • भारत एवं आसिायन के बीच वर्ष 2017 में द्विपक्षीय व्यापार 73-49 अरब डॉलर का था।