21 अक्टूबर : पुलिस स्मरण दिवस

0
20

भारत में 21 अक्टूबर को पुलिस स्मरण दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर देश के लिए अपने जीवन की क़ुरबानी देने वाले पुलिसकर्मियों को याद किया जाता है।

1959 में चीनी सेना ने घात लगाकर लद्दाख में 10 पुलिस के जवानों की हत्या की थी। देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिसकर्मियों के सम्मान में दिल्ली के चाणक्यपुरी में 6.12 एकड़ भूमि पर राष्ट्रीय पुलिस स्मारक की स्थापना की गयी है।

यह राष्ट्रीय पुलिस स्मारक देश की सभी राज्य के पुलिस बल तथा केन्द्रीय पुलिस संगठनों का प्रतिनिधित्व करता है।

इस स्मारक को ग्रेनाइट के 238 टन भारी टुकड़े से बनाया गया है। इस पर 34,844 पुलिसकर्मियों के नाम उत्कीर्ण हैं।

1947 से लेकर आज तक देश में 34,844 पुलिस कर्मियों ने अपना बलिदान दिया, इसी वर्ष 424 पुलिस कर्मियों ने अपना बलिदान दिया।

इनमे से कई पुलिसकर्मियों ने कश्मीर, पंजाब, असम, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम तथा वामपंथी आतंकवाद से प्रभावित इलाकों में देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है।

इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री ओदी एक पुलिस म्यूजियम का उद्घाटन भी करेंगे, इस म्यूजियम में पुलिस के इतिहास, वर्दी, वस्तुओं इत्यादि को प्रदर्शनी के लिए रखा जायेगा। यह म्यूजियम पुलिस स्मारक के साथ ही है।