स्वीडिश शोधकर्ताओं ने कैंसर के उपचार हेतु नई खोज की

0
14

स्वीडन के करोलिंस्का इंस्टिट्यूट के शोधकर्ताओं द्वारा की गई एक ताज़ा रिसर्च के अनुसार मानव शरीर में बनने वाले सूक्षम अणु जो विशेष रूप से मानव शरीर में सेलेनियम युक्त एंजाइम को रोकते हैं वह कैंसर से लड़ने के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण बन सकता है। शोधकर्ताओं ने प्रयोगशाला में इन अणुओं का उपयोग करते हुए 60 विभिन्न प्रकार के कैंसर कोशिकाओं का प्रभावी ढंग से इलाज किया।

  • सेलेनियम एक आवश्यक रासायनिक सूक्ष्म पोषक तत्व है। सेलेनियम युक्त एंजाइम, जिसे TrxR1 कहा जाता है, का इस्तेमाल विभिन्न कोशिकाओं के विकास के लिए किया जा सकता है। यह TrxR1 ऑक्सीडेटिव तनाव से बचा सकता है।

  • शोधकर्ताओं ने लगभग 400,000 अलग-अलग अणुओं का विश्लेषण किया है जो विशेष रूप से TrxR1 को नियंत्रित करते हैं और तीन अलग-अलग प्रकार से पाए जाते हैं।

  • यह TrxR1 कैंसर विरोधी दवा के रूप में सक्रिय साबित हुए हैं।

  • यह मॉडल चूहों पर काम कर रहा है तथा इसे इंसानों के लिए विकसित किया जा सकता है।

प्रमुख शोधकर्ता एलिअस अर्नर के अनुसार कैंसर के खिलाफ यह प्रभाव कैंसर कोशिकाओं के परिणामस्वरूप सामान्य कोशिकाओं की तुलना में ऑक्सीडेटिव तनाव के प्रति अधिक संवेदनशील हो सकता है, जो कि कैंसर थेरेपी में उपयोग किया जा सकता है। यह उपचार चूहों पर सही बैठा है और उम्मीद जताई जा रही है कि यह आगे चलकर कुछ वर्षों के शोध के बाद मनुष्यों के लिए भी लाभकारी सिद्ध होगा।