सोफी: समुद्र के अंदर निगरानी करेगी रोबोट मछली

0
59

अमेरिका स्थित मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के वैज्ञानिकों द्वारा एक सॉफ्ट रोबोट मछली तैयार की गई है, जिसे सोफी नाम दिया गया है। हाल ही में रोबोट मछली सोफी का फिज़ी के रेनबो रीफ में परीक्षण किया गया। सोफी के माध्यम से समुद्री जीवों के विषय में जानकारी प्राप्त करने और जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र के नीचे होने वाले बदलावों के बारे में जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

  • यह मछली समुद्र की सतह से 50 फीट की गहराई में तकरीबन 40 मिनट तक तैरने में सक्षम है। यह पहली ऐसी रोबोट मछली है जो इतनी देर तक पानी में तीन आयामों में तैरने में सक्षम है। इसे तैरने में सक्षम बनाने के लिये मोटर पंप संलग्न किये गए हैं। 
  • साइंस रोबोटिक्स नामक जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, लचकदार पूँछ और पानी में स्वयं को नियंत्रित करने की वज़ह से सोफी समुद्र में आराम से तैर सकती है। पूर्ण मछली जैसी विशेषताओं से युक्त सोफी, न केवल समुद्र में मछलियों और अन्य जलीय जंतुओं के साथ तैरने में सक्षम है, बल्कि यह समुद्र के वातावरण में पूरी तरह से समाहित कर सकती है।
  • वैज्ञानिकों द्वारा सोफी की आँख में एक लेंस लगाया गया है, जिसकी मदद से हाई रेज़ोल्यूशन की तस्वीरें और वीडियो रिकॉर्ड तैयार किये जा सकते हैं।
  • सिलिकॉन रबर से बनी यह रोबोट मछली, समुद्र के भीतर की दुनिया की तस्वीरें ले सकती है, जिससे वैज्ञानिकों को समुद्री जीवन के बारे में अधिक-से-अधिक जानकारी मिल सकेगी।
  • इस मछली को पानी में सेफ रखने के लिए वाटरप्रूफ सुपर निनटेंडो कंट्रोलर का इस्तेमाल किया गया है। साथ ही पानी के भीतर इसकी रफ्तार को नियंत्रित करने के लिए एक खास प्रकार के संचार तंत्र का इस्तेमाल किया गया है।