सुरक्षित मातृत्‍व आश्‍वासन योजना – “सुमन” की शुरूआत

0
18

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने विभिन्‍न राज्‍यों के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रियों के साथ 10 अक्टूबर 2019 को नई दिल्‍ली में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय की केन्‍द्रीय परिषद के 13वें सम्‍मेलन में सुरक्षित मातृत्‍व आश्‍वासन योजना – सुमन (SUMAN) की शुरूआत की। इस योजना का उद्देश्‍य अस्‍पताल में मातृ और शिशु मृत्‍यु की रोकथाम, भुगतान रहित तथा सम्‍मानजनक और गुणवत्‍तापूर्ण चिकित्‍सा सुविधा उपलब्‍ध कराना है।

इस योजना के तहत डिलीवरी के 6 माह बाद तक महिला तथा शिशु को मुफ्त स्वास्थ्य लाभ मिलेगा।

इस योजना के तहत मिलने वाली निशुल्क लाभ निम्न प्रकार से हैं :

  • कम से कम चार अंटे-नेटल चेक-अप
  • पहली तिमाही के दौरान एक चेक-अप
  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत एक चेक-अप
  • आयरन फोलिक एसिड सप्लीमेंटेशन
  • टिटनेस डिप्थेरिया टीका
  • घर से अस्पताल तक निशुल्क परिवहन सुविधा
  • गर्भावस्था के दौरान जटिलताओं के कारण सी-सेक्शन की निशुल्क सुविधा

भारत में 2004-06 में मातृत्व मृत्यु दर प्रति 1 लाख जन्म पर 254 थी, 2014-16 में यह दर 130 प्रति 1 लाख जन्म हो गयी। 2001 में शिशु मृत्यु दर 1000 जन्म पर 66 मृत्यु थी, 2016 में यह दर 34 मृत्यु प्रति 1000 जन्म थी।