‘सिक्योर हिमालय’ परियोजना शुरु

0
55

केंद्र सरकार ने 02 अक्टूबर 2017 को ‘सिक्योर हिमालय’ परियोजना की शुरुआत की। इस परियोजना का शुभारंभ केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन ने किया। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के सहयोग से इन राज्यों (उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और सिक्किम) के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में चलने वाली ‘सिक्योर हिमालय’ परियोजना की शुरुआत की।

देश के चार इन हिमालयी राज्यों में अब हिमालय और हिमालयवासी सुरक्षित होंगे। यह परियोजना छह साल की है जिसमें उत्तराखंड का गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान से लेकर अस्कोट अभयारण्य तक के क्षेत्र को शामिल किया गया है।

मुख्य तथ्य:

इससे 60 गांवों के निवासियों को लाभ मिलेगा। साथ ही इस उच्च हिमालयी क्षेत्र में जैवविविधता और हिम तेंदुओं के संरक्षण को अब प्रभावी कदम उठाए जा सकेंगे। सिक्योर हिमालय परियोजना के लिए जुलाई में 11.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि मंजूर हुई। इसके बाद परियोजना से लाभान्वित होने वाले उत्तराखंड समेत चारों राज्यों ने अपने-अपने क्षेत्रों में इसके क्रियान्वयन के मद्देनजर एक्शन प्लान तैयार किए। इनके स्वीकृत होने के साथ ही अब बजट भी अवमुक्त हो चुका है।

इस परियोजना के तहत उच्च हिमालयी क्षेत्र में हिम तेंदुओं की गणना के मद्देनजर बढ़ाई जाएगी। इन संरक्षित क्षेत्रों में जैव विविधता की सुरक्षा, हिम तेंदुआ समेत दूसरे वन्यजीवों का संरक्षण और वासस्थल विकास होगा। संरक्षित क्षेत्रों से सटे गावों में इको टूरिज्म, जड़ी-बूटी और फलोत्पादन, रोजगारपरक प्रशिक्षण इत्यादि का विकास तेजी से होगा।