सर्वोच्च न्यायालय में चार नए न्यायधीशों को शामिल किया गया

0
29

केंद्र ने सर्वोच्च न्यायालय में चार नए न्यायधीशों की नियुक्ति के लिए मार्ग प्रशस्त कर दिया है। इस नई नियुक्ति के साथ सर्वोच्च न्यायालय में न्यायधीशों की संख्या 34 पहुँच गयी है।

सर्वोच्च न्यायालय के चार नव-नियुक्त न्यायधीश हैं :

  • हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश जस्टिस कृष्ण मुरारी
  • हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश जस्टिस वी. रामासुब्रमण्यम
  • राजस्थान उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश जस्टिस एस. रविन्द्र भट
  • केरल उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश जस्टिस हृषिकेश रॉय

सर्वोच्च न्यायालय की संरचना:

सर्वोच्च न्यायालय में न्यायधीशों की संख्या को संविधान के अनुच्छेद 124(1) के द्वारा निश्चित किया गया है। इस संख्या में संसदीय विधेयक के द्वारा वृद्धि की जा सकती है। इसके लिए संसद ने सर्वोच्च न्यायालय (न्यायधीशों की संख्या) अधिनियम, 1956 लागू किया था।

शुरू में सर्वोच्च न्यायालय में न्यायधीशों की संख्या 10 (मुख्य न्यायधीश के अतिरिक्त) थी। इस अधिनियम अंतिम बार 2009 में संशोधन किया गया था, 2009 में सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीशों की संख्या को 25 से बढ़ाकर 30 (मुख्य न्यायधीश के अतिरिक्त) कर दिया गया था।

सर्वोच्च न्यायालय (न्यायधीशों की संख्या) विधेयक, 2019 के द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीशों की संख्या को 31 से बढ़ाकर 34 (मुख्य न्यायधीश सहित) कर दिया गया है।