संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार 2017 देने की घोषणा

0
100

05 फरवरी 2019 को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश के 42 कलाकारों को वर्ष 2017 के लिए संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार प्रदान करने की घोषणा कर दी है। यह पुरस्कार विशेष अलंकरण समारोह के दौरान राष्ट्रपति भवन में प्रदान किये जायेंगे। ये पुरस्कार संगीत, नाटक, नृत्य व वादन तथा गायन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दिए जाते हैं। पुरस्कार विजेता निम्नानुसार हैं:

संगीत क्षेत्र में

क्रम संख्या

विजेता

श्रेणी

1.

ललित जे राव

हिन्‍दुस्‍तानी गायन

2.

उमाकांत गुन्‍देचा और रमाकांत गुन्‍देचा

हिन्‍दुस्‍तानी गायन

3.

योगेश समसी

हिन्‍दुस्‍तानी वाद्य – तबला

4.

राजेन्‍द्र प्रसन्ना

हिन्‍दुस्‍तानी वाद्य – शहनाई / बांसुरी

5.

एम.एस. शीला

कर्नाटक गायन

6.

सुमा सुधीन्‍द्र

कर्नाटक वाद्य – वीणा

7.

तिरूवरूर वैद्यनाथन

कर्नाटक वाद्य– मृदंगम

8.

शशांक  सुब्रमणयम

कर्नाटक वाद्य – बांसुरी

9.

मधुरानी

सुगम संगीत

10.

हेमंती शुक्‍ला

सुगम संगीत

11.

गुरनाम सिंह

गुरबानी


नृत्य 
क्षेत्र में

क्रम संख्या

विजेता

श्रेणी

1.

रमा वैद्यनाथम

भरतनाट्यम

2.

शोभा कोसर

कथक

3.

मदंबी सुब्रमणयन

कथकली

4.

एल.एन. ओइनाम ओंगबी धोनी देवी

मणिपुरी

5.

दीपिका रेड्डी

कुचिपुड़ी

6.

सुजाता महापात्र

ओडिशी

7.

रामकृष्‍ण तालुकदार

सतरिया

8.

जनमेजय साईबाबू

छाउ

9.

आशित देसाई

नृत्‍य संगीत

 

थिएटर (नाट्य कलाक्षेत्र में

क्रम संख्या

विजेता

श्रेणी

1.

अभिराम भदकमकर

नाट्य लेखन

2.

सुनील शानबाग

निर्देशन

3.

बापी बोस

निर्देशन

4.

हेमा सिंह

अभिनय

5.

दीपक तिवारी

अभिनय

6.

अनिल टिक्‍कू

अभिनय

7.

नुरूद्दीन अहमद

स्‍टेज क्राफ्ट

8.

अवतार साहनी

लाइटिंग

9.

शोउगरकपम हेमंत सिंह

सुमंग लीला, मणिपुर

 

पारंपरिक/लोक/जनजातीय संगीत/नृत्य थिएटर तथा कठपुतली कला के क्षेत्र में

क्रम संख्या

विजेता

श्रेणी

1.

अनवर खान मंगनियार

लोकसंगीत राजस्‍‍थान

2.

प्रकाश खंडगे

लोक कला महाराष्‍ट्र

3.

जगन्‍नाथ बयान

पारंपरिक संगीत खोल असम

4.

रामचन्‍द्र मांझी

लोक संगीत बिहार

5.

राकेश तिवारी

लोक नाट्य छत्‍तीसगढ

6.

पार्वती बाउल

बाउल संगीत पश्चिम बंगाल

7.

सर्बजीत कौर

लोक संगीत पंजाब

8.

केसी रुनरेमसंगी

लोक संगीत मिजोरम

9.

मुकुन्‍द नायक

लोक संगीत झारखंड

10.

सुदीप गुप्‍ता

कठपुतली कला पश्चिम बंगाल

 

संगीत नाटक अकादमी पुरस्कारः

इन पुरस्कारों की शुरूआत वर्ष 1952 से हुई थी। इन पुरस्कारों को भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किया जाता है। संगीत नाटक अकादमी फेलोशिप और संगीत नाटक अकादमी पुरस्कारों को सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों के रूप माना जाता है। यह पुरस्कार प्रदर्शन कलाकारों, शिक्षकों तथा प्रदर्शन कलाओं के क्षेत्र में जुड़े विद्वानों को या विशेषज्ञों को प्रदान किया जाता है।

यह सम्मान न सिर्फ उत्कृष्टता और उपलब्धि के उच्च मानकों के संकेत हैं बल्कि व्यक्तिगत कार्य/योगदान को मान्यता देते हैं। इस पुरस्कार के तहत विजेता को 1 लाख रूपये की धनराशि सहित एक प्रतीक चिन्ह तथा एक प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।