वैश्विक पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक में भारत 177वें स्थान पर

0
25

हाल ही में, स्विट्ज़रलैंड के दावोस में जारी की गयी ग्लोबल एन्वायर्नमेंट परफॉर्मेंस इंडेक्स (EPI) रिपोर्ट में भारत 177वें स्थान पर है। इस सूचकांक में कुल 180 देशों को शामिल किया गया है। रिपोर्ट में 10 श्रेणियों के अलग-अलग 24 मुद्दों पर रिसर्च करके तैयार की गई है। इसमें वायु की गुणवत्ता, जल एवं स्वच्छता, कार्बन उत्सर्जन तीव्रता (जीडीपी के प्रति इकाई उत्सर्जन), जंगलों की कटाई और अपशिष्ट जल उपचार शामिल हैं।

इस सूचकांक में शामिल 180 देशों की सूची में भारत का नाम आखिरी पांच देशों में है। भारत इस वर्ष जारी रिपोर्ट में 177वें स्थान पर है। दो वर्ष पूर्व भारत इस सूची में 141वें स्थान पर था। पर्यावरण संरक्षण के लिए नियमित प्रयास करने वाले देशों में स्विटजरलैंड प्रथम स्थान पर है उसके बाद फ्रांस, डेनमार्क, माल्टा और स्वीडन की बारी आती है। 

इस रिपोर्ट को डब्ल्यूईएफ के सहयोग से येल और कोलंबिया विश्वविद्यालय द्वारा तैयार किया गया है। रिपोर्ट में जनसंख्या वृद्धि से विकास पर प्रभाव पड़ने की भी बात कही गई है। इस रिपोर्ट में चीन का 120 वां स्थान दिया गया है।

ग्लोबल एन्वायर्नमेंट परफॉर्मेंस इंडेक्स:

यह सूचकांक राज्य द्वारा उस क्षेत्र में किये गये पर्यावरण सुधार कार्यक्रमों तथा उससे संबंधित नीतियों का आकलन करता है। इस रिपोर्ट का पहली बार वर्ष 2002 में प्रकाशन हुआ था तथा उन लक्ष्यों की पूर्ति का आकलन किया गया जिन्हें संयुक्त राष्ट्र ने सतत विकास के लक्ष्यों में निर्धारित किया है। इसे येल यूनिवर्सिटी एवं कोलम्बिया यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार किया जाता है। इसमें विश्व आर्थिक मंच एवं जॉइंट रिसर्च सेंटर ऑफ़ यूरोपियन कमीशन भी शामिल रहते हैं।