वैश्विक पर्यावरण परिदृश्य 2019

0
87

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम ने हाल ही में वैश्विक पर्यावरण परिदृश्य 2019 नामक रिपोर्ट जारी की, इस रिपोर्ट के अनुसार भारत के सन्दर्भ में निम्नलिखित तथ्य प्रस्तुत किये गये हैं :

  • यदि वैश्विक तापमान को 1.5 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बढ़ने से रोका जाए तो स्वास्थ्य क्षेत्र में भारत को 3 ट्रिलियन डॉलर (लगभग 210 खरब रुपये) की बचत होगी।
  • INDC में भारत की प्रतिबद्धता के अनुसार भारत 2030 तक उत्सर्जन के स्तर को कम करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
  • वैश्विक तापमान को 1.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक बढ़ने से रोकने के लिए भारत को कोयले से चलने वाले उर्जा सयंत्रों के निर्माण को रोकना होगा।
  • 2015 के पेरिस समझौते के अनुसार इस सदी में वैश्विक तापमान को पूर्व औद्योगिक स्तर से 2 डिग्री सेल्सियस से अधिक न बढ़ने देने का लक्ष्य रखा गया है। परन्तु ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन को कम करने के मामले में अधिकतर देशों का प्रदर्शन ज्यादा बेहतर नहीं रहा है।