वैज्ञानिक सीएनआर राव को वोन हिप्पल अवार्ड

0
51

प्रख्यात भारतीय वैज्ञानिक प्रोफेसर सी एन आर राव को प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय ‘वोन हिप्पल’ पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गई है। प्रोफेसर राव यह पुरस्कार पाने वाले पहले एशियाई वैज्ञानिक हैं। यह अवार्ड अमेरिका स्थित मटीरीअल्स रिसर्च सोसायटी (एमआरएस) का सर्वोच्च सम्मान है।

प्रोफेसर राव को बॉस्टन में 29 नवंबर को होने वाली एमआरएस की बैठक के दौरान इस पुरस्कार से नवाजा जायेगा। जिसके तहत उन्हें नकद राशि, ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। वोन हिप्पल पुरस्कार को पदार्थ अनुसंधान के क्षेत्र का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार माना जाता है। यह पुरस्कार पदार्थ अनुसंधान शोध में उनके बहुमूल्य योगदान के लिए दिया जा रहा है। प्रोफेसर राव की नैनो मैटिरियल, ग्राफीन, सुपरकंडक्टिवीटी, 2डी मैटिरियल और क्लोसल मैग्नेटोरेसिसटेंस के विकास में अहम भूमिका है।

वॉन हिप्पल पुरस्कार, आर्थर आर वॉन हिप्पल की याद में सामग्री अनुसंधान सोसायटी का सर्वोच्च वैज्ञानिक पुरस्कार है। इसे 1978 से सालाना सम्मानित किया गया है, लेकिन पहला पुरस्कार 1976 में ही हिप्पल ने किया था। अंतःविषय सामग्री विज्ञान के क्षेत्र में पुरस्कार 10,000 अमेरिकी डॉलर (2014 तक) के साथ संपन्न हुआ है।

सी एन आर राव: 

  • वर्तमान में वह भारत के प्रधानमंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार परिषद के प्रमुख के रूप में सेवा कर रहे हैं।
  • वर्ष 2013 में उन्हें भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया।
  • वर्ष 2014 में भारत सरकार ने उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया। सी वी रमण और ए पी जे अब्दुल कलाम के बाद इस पुरस्कार से सम्मानित किये जाने वाले वे तीसरे ऐसे वैज्ञानिक हैं।
  • राव जवाहरलाल नेहरू उन्नत वैज्ञानिक अनुसंधान केन्द्र, बेंगलुरू के मानद अध्यक्ष हैं, जिसकी स्थापना उन्होंने स्वयं 1989 में की थी।