विश्‍व डाक दिवस : 9 अक्टूबर

0
10

प्रत्येक वर्ष 9 अक्टूबर को विश्‍व डाक दिवस मनाया जाता है। विश्‍व डाक दिवस का उद्देश्‍य लोगों के रोजमर्रा के जीवन में डाक की भूमिका के साथ-साथ सामाजिक और आर्थिक विकास में इसके योगदान के प्रति जागरूकता लाना है।

साल 1874 में 9 अक्टूबर को यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन (UPU) का गठन करने के लिए स्विट्जरलैंड की राजधानी बर्न में 22 देशों ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसके बाद वर्ष 1969 में जापान के टोक्‍यो में हुए सम्मेलन में विश्व डाक दिवस के रूप में 9 अक्‍टूबर को चयन किए जाने की घोषणा हुई।

महत्वपूर्ण तथ्य:

  • भारत 1 जुलाई 1876 को भारत यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन का सदस्य बनने वाला पहला एशियाई देश था।
  • भारत में आधुनिक डाक व्यवस्था की शुरुआत 1766 में लॉर्ड क्लाइव ने की थी।
  • इसका विकास वारेन हेस्टिंग्स ने 1774 में कोलकाता जनरल पोस्ट ऑफिस (GPO) की स्थापना करके किया।
  • 1 अक्‍टूबर, 1854 को भारत सरकार ने डाक के लिए एक विभाग की स्थापना की थी।
  • भारतीय डाक विभाग पिनकोड (पोस्टल इंडेक्स नंबर) के आधार पर देश में डाक वितरण का काम करता है।
  • पिनकोड की शुरुआत 15 अगस्त, 1972 को गई थी।