विश्व हीमोफिलिया दिवस 2019

0
66

17 अप्रैल को विश्व हीमोफिलिया दिवस मनाया गया। इसका हीमोफिलिया से पीड़ित अन्य लोगों को चिन्हित करना है। 17 अप्रैल को फ्रैंक शनाबेल के जन्म दिन के कारण विश्व हीमोफिलिया दिवस मनाया जाता है, उन्होंने 1963 में विश्व हीमोफिलिया संघ की स्थापना की थी।

हीमोफिलिया:

हीमोफिलिया एक चिकित्सीय स्थिति है जिसमे व्यक्ति के शरीर में थक्का बनने की क्षमता कम हो जाती है। जिस कारण छोटी-मोटी चोट से भी काफी अधिक खून शरीर से बह जाता है। यह आमतौर पर आनुवंशिक होता है, और एक्स क्रोमोजोम में खराबी के कारण होता है।

हीमोफिलिया A 5000 जन्म में से एक व्यक्ति को होता है जबकि हीमोफिलिया B 20,000 जन्म में से केवल एक व्यक्ति को होता है। विश्व हीमोफिलिया संघ के अनुसार 2017 में विश्व भर में 1.96 लाख लोग हीमोफिलिया से पीड़ित थे। भारत में सर्वाधिक 19,000 लोग हीमोफिलिया से पीड़ित हैं।