विश्व तंबाकू निषेध दिवस : 31 मई

0
17

प्रत्येक वर्ष 31 मई को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और वैश्विक साझेदारों द्वारा विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है। वर्ष 2019 के लिए इस दिवस की थीम ‘तंबाकू और फेफड़ों के स्वास्थ्य’ है। इस दिन का मुख्य उद्देश्य सिगरेट तथा अन्य साधनों के माध्यम से तंबाकू उपभोग से स्वास्थ्य पर पड़ने वाले हानिकारक प्रभावों के बारे में जागरूकता प्रसारित करना है।

अकाल मृत्यु होने के रोके जाने वाले सबसे बड़े कारणों में से तंबाकू सेवन भी एक है, इससे फेफड़ों को नुकसान पहुँचता है। यह गंभीर और अक्सर घातक स्थितियों जैसे कि हृदय रोग और फेफड़ों के कैंसर उत्पन्न वाले मुख्य कारणों में से एक है।

तंबाकू के उपयोग से होने वाली बीमारी:

  • फेफड़ों का कैंसर
  • COPD (पुरानी प्रतिरोधी फुफ्फुसीय रोग)
  • हृदय की बीमारी
  • आघात (स्ट्रोक)
  • दमा
  • महिलाओं में प्रजनन संबंधी प्रभाव
  • समय से पहले, जन्म लेने वाले कम वज़न के बच्चे
  • मधुमेह
  • अंधापन और मोतियाबिंद
  • बृहदान्त्र (colon), गर्भाशय, ग्रीवा, यकृत, पेट और अग्नाशय के कैंसर सहित 10 से अधिक प्रकार के कैंसर के लिये भेद्यता

ध्यान देने योग्य है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तंबाकू नियंत्रण के क्षेत्र में राजस्थान सरकार के चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग की उपलब्धियों को मान्यता देते हुए इस वर्ष के पुरस्कार के लिये चुना है। इस विभाग ने वर्ष 2018-19 के दौरान स्कूलों, कॉलेजों, पुलिस स्टेशनों और सरकारी कार्यालयों जैसे स्थानों पर तंबाकू सेवन के विरुद्ध कई अभियान संचालित किये हैं।