विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया गया

0
10

विश्व भर में प्रत्येक 21 सितंबर को विश्व अल्जाइमर दिवस मनाया जाता है। इसे आमतौर पर भूलने की बीमारी के नाम पर जाना जाता है, जैसे फोन कहीं रख कर भूल जाना, जिस काम से घर से निकले थे, रास्ते में वह काम भूल जाना आदि इस बीमारी के कुछ उदाहरण हैं। अभी तक इसका कोई सटीक इलाज नहीं ढूँढा गया है।

यह एक प्रकार की मस्तिष्क और याददाश्त से जुड़ी बीमारी है जिसमें व्यक्ति याददाश्त सहित धीरे-धीरे सोचने की शक्ति खोता जाता है। Alzheimer के जुड़े कई मामलों में यह देखा गया है कि Alzheimer से पीड़ित व्यक्ति आसान काम भी नहीं कर पाता। पहले यह बीमारी आमतौर पर बुजुर्गों में पाई जाती थी लेकिन अब युवा लोग भी इसका शिकार हो रहे हैं। Alzheimer का नाम डॉक्टर अलोइस अल्जाइमर के नाम पर रखा गया है।

Alzheimer के विभिन्न लक्षण हैं जिसमें प्रमुख हैं – याद्दाश्त का खोना, कुछ भी सोचने में दिक्कत, किसी सोचे हुए काम को पूरा न कर पाना, आंखों की रोशनी धीरे-धीरे कम होना, सही शब्द लिखने में दिक्कत आना, निर्णय लेने में दिक्कत आना, चीज़े रखकर भूल जाना, लोगों से कम मिलना और काम को आगे टालना, डिप्रेशन और मन में डर रहना आदि।