विदेशी योगदान की निगरानी के लिये ऑनलाइन विश्लेषण टूल

0
33

हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने विदेशी योगदान (नियमन) अधिनियम [Foreign Contribution (Regulation) Act], 2010 के अंतर्गत विदेशी धन प्रवाह तथा इसके उपयोग की निगरानी के लिये एक ऑनलाइन विश्लेषण टूल की शुरूआत की। वेब आधारित यह टूल सरकार के विभिन्न विभागों के अधिकारियों को विदेशी योगदान के स्रोत और भारत में इसके उपयोग की जाँच करने में मदद करेगा।

  • FCRA 2010 के प्रावधानों के अनुपालन के संदर्भ में यह टूल आँकड़ों तथा साक्ष्य के आधार पर निर्णय लेने में विभागों को सहायता प्रदान करेगा।
  • इसमें वृह्द् आँकड़ों को ढूंढने और विश्लेषण करने की क्षमता निहित है।
  • इसका डैशबोर्ड FCRA पंजीकृत बैंक खातों से जुड़ा होगा और यह लोक वित्तीय प्रबंधन प्रणाली के माध्यम से वास्तविक समय पर अद्यतन जानकारी उपलब्ध कराएगा।
  • FCRA 2010 के अंतर्गत लगभग 25,000 सक्रिय संगठन पंजीकृत हैं। इन संगठनों को वर्ष 2016-17 के दौरान सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक, शैक्षिक तथा धार्मिक गतिविधियों के लिये 18,065 करोड़ रुपए का विदेशी चंदा प्राप्त हुआ है।
  • प्रत्येक FCRA –एनजीओ विदेशी योगदान प्राप्त करने तथा इसे खर्च करने में कई प्रकार का वित्तीय लेन-देन करता है। इस टूल के माध्यम से इन लेन-देनों की निगरानी की जा सकती है।
  • FCRA 2010 एक मई, 2011 से प्रभाव में आया है। FCRA 2010 में कई प्रावधानों को जोड़ा गया है। एक व्‍यक्ति इस अधिनियम के तहत प्राप्‍त विदेशी योगदान को दूसरे व्‍यक्ति को तब तक नहीं दे सकता, जब तक कि वह व्‍यक्ति भी केंद्र सरकार के द्वारा निर्मित नियमों के अनुसार विदेशी योगदान को प्राप्‍त करने के लिए अधिकृत नहीं है।