विकास से जुड़ी पत्रकारिता हेतु दीन दयाल उपाध्याय छात्रवृत्ति

0
13

27 अप्रैल (वार्ता) केंद्रीय सूचना एव प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने विकास से जुड़ी पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम करने वाले भारतीय मूल के लोगों के लिए 25 हजार रूपये की दीनदयाल उपाध्याय छात्रवृत्ति शुरू किये जाने की घोषणा की। श्रीमती ईरानी ने भारतीय जनसंचार संस्थान(आईआईएमसी) के विकास पत्रकारिता पाठ्यक्रम के 69वें समापन सत्र को संबोधित करते हुए यह घोषणा की।

उन्होंने 16 देशों के विकास पत्रकारिता से जुड़े 25 छात्रों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया। इस अवसर पर श्रीमती इरानी ने आईआईएमसी परिसर में राष्ट्रीय मीडिया संकाय विकास केंद्र का उद्घाटन किया। उन्होंने ईसीएचओ न्यूजलेटर, समाचार माध्यम एवं कम्यूनिकेटर पत्रिकाओं को लांच किया।

पृष्ठभूमि:

विकास पत्रकारिता में डिप्लोमा कोर्स आईआईएमसी द्वारा निर्गुट एवं विकासशील देशों के मध्य-कैरिअर वाले पत्रकारों के लिए संचालित एक सम्मानजनक पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम का आयोजन भारतीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग (आईटीईसी) एवं विदेश मंत्रालय के विशेष राष्ट्रमंडल अफ्रीकी सहायता योजना (एससीएएपी) कार्यक्रमों के तहत किया जाता है। इस पाठ्यक्रम की अवधि चार महीने है और आमतौर पर इसे साल में दो बार : जनवरी से अप्रैल एवं अगस्त से दिसंबर तक आयोजित किया जाता है। इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य विकास एवं संचार के बीच संपर्कों पर प्रकाश डालना है और पत्रकारों के कौशलों का उन्नयन करना है जिससे कि विकास एवं आर्थिक मुद्दों के बारे में संप्रेषित करते हुए उन्हें चुनौतियों से निपटने में सक्षम बनाया जा सके।