वर्ष 2018 धरती का चौथा सबसे गर्म वर्ष रहा : नासा रिपोर्ट

0
94

हाल ही में नासा एवं नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन (एनओएए) के स्वतंत्र विश्लेषणों के अनुसार वर्ष 2018 दुनिया का चौथा सबसे गरम साल रहा। वर्ष 2018 में धरती का वैश्विक सतह तापमान 1980 के बाद अब तक का चौथा सबसे गर्म तापमान रहा। यह गर्माहट कॉर्बन डाइऑक्साइड के वातावरण में बढ़े हुए उत्सर्जन और मानवीय गतिविधियों के कारण निकलने वाली अन्य ग्रीनहाउस गैसों के चलते हुई है।

  • नासा के गोडार्ड इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस स्टडीज (जीआईएसएस) के अनुसार वर्ष 2018 में वैश्विक तापमान 1951 से 1980 के औसत तापमान से 0.83 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था।
  • नासा के अनुसार वैश्विक परिदृश्य में वर्ष 2018 का तापमान अन्य वर्ष जैसे कि वर्ष 2017, 2016, 2015 से कम रहा। रिपोर्ट के अनुसार पिछले पांच वर्ष सामूहिक रूप से आधुनिक रिकॉर्ड के हिसाब से सबसे गर्म वर्ष रहे।
  • रिपोर्ट में पाया गया कि वर्ष 2018 में पृथ्वी का तापमान 20वीं सदी के औसत से 0.79 डिग्री सेल्सियस ज्यादा था। लंबी अवधि से बढ़ रहे वैश्विक तापमान पर कई चिंताओं के बावजूद वर्ष 2018 में एक बार फिर सबसे गर्म वर्ष रहा है।

उल्लेखनीय है कि नासा ने इस रिपोर्ट को प्रकाशित करने से पहले अपने 6300 मौसम केन्द्रों के सतह तापमान माप, जहाज और प्लवन आधारित समुद्री सतह तापमान का आकलन और अंटार्कटिक अनुसंधान केन्द्रों में तापमान माप को शामिल किया था।