राष्ट्रपति ने ‘एक जनपद एक उत्पाद सम्मेलन’ का उद्घाटन किया

0
12

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 10 अगस्त 2018 को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग विभाग द्वारा आयोजित पहले ‘एक जनपद-एक उत्पाद’ समिट का शुभारंभ किया। राष्ट्रपति ने इस मौके पर ‘नयी उड़ान, नयी पहचान‘ के मूल नारे वाली ओडीओपी योजना के 4084 लाभार्थियों को ऋण वितरित किये।

  • ‘एक जनपद एक उत्पाद’ योजना द्वारा पाँच वर्षों में पचीस हज़ार करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता के ज़रिये पचीस लाख लोगों को रोज़गार दिलाने का लक्ष्य है।
  • इस योजना से युवाओं के लिये बड़े पैमाने पर रोज़गार के अवसरों के सृजन के साथ ही, राज्य के समग्र और संतुलित विकास को भी बल मिलेगा।
  • इस समिट में ‘ई-मार्केटिंग’, ‘ज़ीरो डिफ़ेक्ट–ज़ीरो इफ़ेक्ट’ और पूंजी निवेश में सहायता के लिये यहाँ उपस्थित संस्थानों के प्रतिनिधियों के साथ जो समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गए हैं, उनसे ज़िला  स्तर पर उत्पादकों के लिये नए अवसर प्राप्त होंगे। 
  • ‘थिंक-ग्लोबल, एक्ट-लोकल’ की सोच के अनुसार, स्थानीय कौशल को प्रोत्साहन देकर जनपदों के कई ऐसे उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार के लायक बनाया जा सकता है।
  • उत्तर प्रदेश के कई ज़िलों के उत्पादों की मांग राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर है। लेकिन ऐसे बहुत से ज़िले और उत्पाद हैं जिन्हें, इस योजना द्वारा समुचित प्रोत्साहन देकर उनकी क्षमता का व्यावसायिक उपयोग किया जा सकता है तथा कई नए ब्रांड विकसित किए जा सकते हैं।