राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने पर दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव पारित

0
189

दिल्ली विधानसभा ने 21 दिसंबर, 2018 को एक प्रस्ताव पारित कर 1984 के सिख दंगों के चलते पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी को दिया गया भारत रत्न सम्मान वापस लेने की मांग की है। प्रस्ताव में 1984 के सिख दंगा को ‘नरंसहार’ भी करार दिया गया।

उपर्युक्त प्रस्ताव आम आदमी पार्टी के विधायक जरनैल सिंह ने पेश किया था जिसे ध्वनिमत से पारित किया गया। प्रस्ताव के द्वारा दिल्ली सरकार को गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर संदेश पहुंचाने को कहा गया है कि उस दंगे के पीडि़त परिवार अभी न्याय के लिए भटक रहे हैं।

प्रस्ताव में दिल्ली सरकार से कहा गया है कि वह केंद्रीय गृह मंत्रालय से आग्रह करे कि वह भारत के घरेलू आपराधिक कानूनों में मानवता एवं नरसंहार के खिलाफ अपराध को भी शामिल करे जैसे कि दिल्ली उच्च न्यायालय ने सज्जन कुमार के मामले में किया।

उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी को वर्ष 1991 में भारत रत्न (मरणोपरांत) से सम्मानित किया गया था।