रसायनशास्त्र का नोबेल पुरस्कार 2018

0
298

नोबेल पुरस्कार चयन समिति ने 03 अक्टूबर 2018 को तीन वैज्ञानिकों को रसायन विज्ञान श्रेणी में पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की। रसायन विज्ञान श्रेणी के नोबेल पुरस्कार विजेताओं में एक महिला और दो पुरुष वैज्ञानिक हैं। इन वैज्ञानिकों में अमेरिकी वैज्ञानिक फ्रांसीस एच. आर्नोल्ड, जॉर्ज पी स्मिथ और ब्रिटिश अनुसंधानकर्ता ग्रेगोरी विंटर शामिल हैं।

  • 1 मिलियन डॉलर की पुरस्कार राशि में से आधी राशि संयुक्त राज्य अमेरिका की फ्रांसीस एच. आर्नोल्ड को दिया जाएगा। वे रसायनशास्त्र का नोबेल पुरस्कार जीतने वाली वे पांचवीं तथा वर्ष 2009 के पश्चात पहली महिला हैं।
  • डॉ. आर्नोल्ड ने एंजाइम, प्रोटीन का प्रथम निर्देशित विकासवाद का संचालन किया। वहीं डॉ. स्मिथ ने फेज डिस्प्ले नामक पद्धति का विकास किया जिसमें कोई वायरस जो बैक्टीरिया को संक्रमित करता है, का इस्तेमाल नया प्रोटीन के विकास के लिए किया जा सकता है।
  • डॉ. विंटर ने फेस डिस्प्ले का इस्तेमाल नई दवाइयों के विकास में किया।

चयन अकादमी की नोबेल कैमेस्ट्री कमेटी के प्रमुख क्लेस गुस्तफसन ने जानकारी देते हुए कहा कि 2018 के नोबेल विजेताओं ने डार्विन के सिद्धांत को परखनली में उतारा। इन वैज्ञानिकों ने आण्विक स्तर पर क्रमविकास की प्रक्रियाओं की समझ का उपयोग किया और अपनी प्रयोगशाला में उसे मूर्त रूप दिया। उन्होंने कहा कि इसके तहत क्रम विकास की गति हजारों गुणा तेज की गई और इसे नये प्रोटीन के निर्माण के लिए इस्तेमाल किया गया।