रघु कर्नाड ने विंडहम-कैम्पबेल पुरस्कार जीता

0
70

भारतीय लेखक रघु कर्नाड ने विंडहम-कैम्पबेल पुरस्कार जीता। उन्होंने यह पुरस्कार अपनी प्रथम पुस्तक के लिए नॉन-फिक्शन श्रेणी में जीता। इस पुरस्कार के विजेता को 1,65,000 डॉलर इनामस्वरुप प्रदान किये जाते हैं। रघु कर्नाड को उनकी पुस्तक “The Farthest Field: An Indian Story of the Second World War” के लिए सम्मानित किया किया जायेगा।

विंडहम-कैम्पबेल पुरस्कार के लिए चार अन्य श्रेणियों फिक्शन, नॉन-फिक्शन, नाटक तथा काव्य में आठ लेखकों को प्रदान किया जाता है। कर्नाड इस पुरस्कार को जीतने वाले दूसरे भारतीय हैं। 2016 में जेरी पिंटो को उनके उपन्यास “Em and the Big Hoom” के लिए भी सम्मानित किया गया था। रघु कर्नाड प्रसिद्ध लेखक व ज्ञानपीठ पुरस्कार विजेता गिरीश कर्नाड के पुत्र हैं।

विंडहम-कैम्पबेल पुरस्कार

विंडहम-कैम्पबेल पुरस्कार अमेरिका के येल विश्वविद्यालय में बाईंनेक रेयर बुक एंड मैनुस्क्रिप्ट लाइब्रेरी द्वारा प्रदान किया जाता है। इसकी स्थापना 2013 में की गयी थी।