यूपी का शामली जिला एनसीआर में शामिल हुआ

0
26

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में उत्तर प्रदेश के शामली जिले को शामिल किया गया है। इस जिले को 04 दिसंबर 2017 को एनसीआर में शामिल कर लिया गया। इसके साथ एनसीआर में शामिल जिलों की संख्या 23 हो गई है।

  • एनसीआर में शामिल शहरों को नेशनल कैपिटल रिजन प्लानिंग बोर्ड (एनसीआरपीबी) की तरफ से क्षेत्र के लिए विकास के लिए आकर्षक दरों पर फंड मुहैया कराया जाता है।
  • दिल्ली के अतिरिक्त वर्तमान समय में 22 जिले (हरियाणा के 13, उत्तर प्रदेश के 7 और राजस्थान के 2) एनसीआर में शामिल हैं।

उप क्षेत्र

जिलों के नाम

क्षेत्र (वर्ग किलोमीटर में)
हरियाणा फरीदाबाद, गुडगांव, मेवात, रोहतक, सोनीपत, रिवाडी, झज्जर, पानीपत, पलवल, भिवानी (चरखी दादरी सहित), महेन्द्रगढ, जींद और करनाल. 25,327
उत्तर प्रदेश मेरठ, गाजियाबाद, गौतम बुद्ध नगर, बुलन्दशहर, हापुड, बागपत और मुजफ्फरनगर. 13,560
राजस्थान अलवर और भरतपुर. 13,447
दिल्ली सम्पूर्ण एनसीटी – दिल्ली 1,483
  • दिल्ली-एनसीआर में वन क्षेत्र अब सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुरूप चिह्नित होंगे वहीं अरावली क्षेत्र का केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के मानकों के अनुरूप पुनर्निर्धारण होगा।
  • ये निर्णय 04 दिसंबर 2017 को विज्ञान भवन में संपन्न एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की 37वीं बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय शहरी आवास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और बोर्ड के अध्यक्ष हरदीप सिंह पुरी ने की।

एनसीआर:

एनसीआर योजना बोर्ड अधिनियम, 1985 की धारा 8(एफ) के अंतर्गत, क्षेत्रीय योजना के लक्ष्यों को प्राप्‍त करने की दृष्टि से संबंधित राज्य सरकार के साथ परामर्श से बोर्ड को एनसीआर के बाहरी किसी क्षेत्र का, उसकी अवस्थिति, जनसंख्या और ‘काउंटर मैग्नेट क्षेत्र’ के रुप में विकास की संभावना पर ध्यान देते हुए, चयन करने की शक्तियां प्रदान की गई हैं।

इस समय, एनसीआर योजना बोर्ड ने एनसीआर के निम्नलिखित नौ काउंटर मैग्नेट क्षेत्रों की पहचान की है:

  • हरियाणा में हिसार और अम्बाला
  • उत्तर प्रदेश में बरेली और कानपुर
  • राजस्थान में कोटा और जयपुर
  • पंजाब में पटियाला
  • मध्य प्रदेश में ग्वालियार
  • उत्तराखण्ड में देहरादून