भारत और ताजिकिस्तान के मध्य नौ समझौतों पर हस्ताक्षर

0
135

08 अक्टूबर 2018 को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अध्यक्षता में ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमामोली रहमान के साथ हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता में दोनों देशाें के बीच रक्षा, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, आपदा प्रबंधन, संयोजक परियोजना, संस्कृति, आयुष, अक्षय ऊर्जा, युवा एवं खेल सहित नौ समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये।

मुख्य बिंदु:

  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दोनों देशों की जनता के लाभ के लिए भारत-ताजिकी संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए रक्षा और संयोजक परियोजनाओं के महत्व पर बल दिया।
  • दोनों देशों के राष्ट्रपतियों ने आतंकवाद की बुनियादी चुनौतियों, विशेषरूप से अफगानिस्तान के संदर्भ में चर्चा की। दोनों देशों के राष्ट्र प्रमुखों ने कहा कि उन्हें द्विपक्षीय रणनीतिक साझेदारी और पुरानी दोस्ती पर गर्व है।
  • इस अवसर पर, भारत ने ताजिकिस्तान को विकास सहायता परियोजनाओं के लिए दो करोड़ अमेरिकी डॉलर अनुदान देने की घोषणा की।
  • राष्ट्रपति कोविंद ने दुशान्बे स्थित ताजिकिस्तान विश्वविद्यालय में ‘काउंटरिंग रेडिकलाइजेशन: चैलेंजेस इन मॉडर्न सोसायटीज़’ विषय पर आयेाजित संगोष्ठी को संबोधित किया।
  • इसके उपरांत राष्ट्रपति कोविंद ने मजलिसी ओली (ताजिकिस्तान की संसद के निचले सदन) के मजलिसी नामॉयन्दगोन के अध्यक्ष और ताजिकिस्तान के प्रधानमंत्री कोहिर रसूलोजाडा के साथ अलग द्विपक्षीय बैठक की।

भारत और ताजिकिस्तानन के बीच संबंध परंपरागत रूप से घनिष्ठ और मधुर रहे हैं। दोनों देशों के मध्य उच्चत स्त रीय यात्राओं के आदान–प्रदान से द्विपक्षीय संबंध मजबूत हुए हैं। पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल ने भी सितंबर 2009 में ताजिकिस्तान की राजकीय यात्रा की थी।