भारतीय एथलीट प्रियंका पवार पर 8 साल का प्रतिबंध लगाया गया

0
31

भारतीय एथलीट प्रियंका पवार पर डोप टेस्ट में असफल होने के कारण आठ साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है। प्रियंका को हैदराबाद में इंटर-स्टेट एथलेटिक्स चैंपियनशिप में प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया था। यह चैंपियनशिप 28 जून 2016 से 02 जुलाई 2016 के बीच खेली गई थी। तब से उन पर अस्थायी प्रतिबंध था।

प्रियंका पवार को रियो ओलम्पिक-2016 में चार गुणा 400 मीटर रिले में चुना गया था, लेकिन उन्हें बाद में टीम से बाहर कर दिया गया था। उनकी जगह अश्विनी अकुनजी को टीम में शामिल किया गया था। प्रियंका का नमूना मेफेनटेरमाइन के लिए पॉजीटिव पाया गया था।
राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) ने उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए अपना फैसला सुनाया है। नाडा के नियम के अनुसार अगर खिलाड़ी दो बार डोपिंग में पकड़ा जाता है तो उस पर आठ साल से लेकर अजीवन प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है।

प्रियंका पवार इससे पहले वर्ष 2011 में भी डोप टेस्ट में असफल रही थीं। वे दो साल के प्रतिबंध के बाद वर्ष 2013 में वापस आई थीं। उन्हें राष्ट्रीय शिविर में भी जगह मिली थी और इंचियोन में खेले गए एशियाई खेलों में भी शामिल किया गया था। उन्होंने साल 2014 में दक्षिण कोरिया के इंचियोन शहर में आयोजित एशियाई खेलों में 4×400 मीटर रिले स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया था।

एथलेटिक्स:

एथलेटिक्स प्रतिस्पर्धात्मक दौड़ने, कूदने, फेंकने और चलने की प्रतियोगिताओं का एक विशेष संग्रह है। एथलेटिक्स के अंतर्गत समान्य तौर पर ट्रैक और फील्ड, रोड रनिंग, क्रॉस कंट्री रनिंग और रेस वॉकिंग प्रतियोगिताओं को सम्मिलित किया जाता है। प्रतियोगिताओं की सादगी और महंगे उपकरणों की अनुपस्थिति, एथलेटिक्स को सामान्यतः दुनिया की सबसे अधिक खेले जाने वाली खेल प्रतियोगिता बनाता है।

संगठित एथलेटिक्स प्रतियोगिताओं का आयोजन 776 ईसा पूर्व के प्राचीन ओलम्पिक खेलों से होता आ रहा है। निकटतम भविष्य में सबसे आधुनिक प्रतिस्पर्धाओं का आयोजन इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन (आइ॰ए॰ए॰एफ॰) के सदस्य क्लबों द्वारा किया जाता है। एथलेटिक्स आधुनिक ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक खेलों और अन्य प्रमुख अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं जैसे आइ॰ए॰ए॰एफ॰ विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप और विश्व इंडोर चैंपियनशिप का अभिन्न अंग है। शारीरिक विकलांगता वाले एथलीट ग्रीष्मकालीन पैरालिम्पिक्स और आई॰पी॰सी॰ विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भाग लेते हैं।