ब्रह्मांड में पहली बार हीलियम हाइड्राइड नामक प्रथम अणु की खोज

0
108

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने विश्व की सबसे बड़ी आकाशीय वेधशाला नासा के ‘स्ट्रैटोस्फेरिक ऑब्जरवेटरी फॉर इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी’ यानी सोफिया (SOFIA) का इस्तेेमाल करते हुए हमारे अपने आकाशगंगा में हीलियम हाइडरइड’ (Heliu hydride) को खोजा है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक जब हमारा ब्रह्मांड युवा था तब केवल कुछ प्रकार के परमाणु अस्तित्व में थे। इनके मुताबिक बिग बैंग के 1 लाख वर्ष के पश्चात हीलियम एवं हाइड्रोजन युग्मित होकर हीलियम हाइड्राइड अणु का पहली बार निर्माण किया। हालांकि आधुनिक ब्रह्मांड में हीलियम हाइड्राइड का कुछ अंश होगा परंतु इसे इससे पूर्व तक अंतरिक्ष में खोजा नहीं जा सका था।

सोफिया ने आधुनिक हीलियम हाइड्राइड को नेबुला एनजीसी 7027 में खोजा है। यह नेबुला 3000 प्रकाश वर्ष दूर साइग्नस नक्षत्र में स्थित है। उपर्युक्त खोज इस बात का सबूत है कि हीलियम हाइड्राइड वास्तम में अंतरिक्ष में मौजूद है।

उल्लेखनीय है कि आज ब्रह्मांड ग्रहों, तारों, आकाशगंगाओं जैसे बड़ी व जटिल संरचनाओं से भरा-पड़ा है। परंतु आज से 13 अरब वर्ष पहले, बिग बैंग के पश्चात प्रारंभिक ब्रह्मांड गर्म था तथा हीलियम एवं हाइड्रोजन जैसे कुछ परमाणु अस्तित्व में थे। जब परमाणुओं ने मिलकर प्रथम अणुओं का निर्माण किया तब ब्रह्मांड ठंडा होना आरंभ हुआ और आकार लेना आरंभ किया। वैज्ञानिकाें का मानना है कि हीलियम हाइड्राइड प्रथम एवं मौलिक अणु है।