पी.के. बेजबरुआ पुनः टी बोर्ड के चेयरमैन नियुक्त

0
63

केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने हाल ही पी.के. बेजबरुआ को पुनः टी बोर्ड के चेयरमैन नियुक्त किये जाने को मंज़ूरी दी। वे टी बोर्ड के पहले गैर-आईएएस चेयरमैन हैं।

टी बोर्ड:

टी बोर्ड की स्थापना 1 अप्रैल, 1954 को चाय अधिनियम, 1953 के सेक्शन 4 के तहत की गयी थी।

1903 में इंडियन टी सेस बिल पारित किया गया था, इस बिल के द्वारा चाय के निर्यात पर सेस लगाया गया था। इस सेस से प्राप्त होने वाली राशि का उपयोग भारत में चाय के संवर्धन के लिए किया जाता था। यह एक संवैधानिक संस्था है, यह बोर्ड केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के अधीन कार्य करता है।

टी बोर्ड के कार्य:

  • यह चाय की खेती व मार्केटिंग के लिए वित्तीय तथा तकनीकी सहायता प्रदान करता है।
  • चाय के उत्पादन तथा गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए अनुसन्धान व विकास कार्य।
  • सांख्यिकी व आंकड़ों का एकत्रीकरण
  • निर्यात संवर्धन
  • चाय के छोटे व असंगठित उत्पादकों को वित्तीय व तकनीकी सहायता उपलब्ध करवाना।