पहला जेसीबी पुरस्कार मलयाली लेखक बेन्यामिन को मिला

0
116

साहित्य के क्षेत्र में प्रदान किए जाने वाला पहला जेसीबी पुरस्कार मलयाली लेखक बेन्यामिन को दिया गया। उन्हें यह पुरस्कार उनकी किताब ‘जैस्मिन डेज’ के लिए मिला है। ‘जैस्मिन डेज’ पश्चिम एशिया में रहने वाले दक्षिण एशियाई लोगों की जिंदगी पर आधारित है।

यह किताब मूलत: मलयालम में लिखी गयी है और शहनाज हबीब ने इसका अंग्रेजी में अनुवाद किया है। बेन्यामिन को पुरस्कार के रूप में 25 लाख रुपये नकद और एक ट्राफी प्रदान की गई। इसके अलावा हबीब को पांच लाख रुपये का अतिरक्त पुरस्कार भी दिया गया। बेन्यामिन की किताब ‘जैस्मिन डेज’ ने चार लेखकों अमिताभ बागची, अनुराधा रॉय, शुभांगी स्वरूप और पेरुमल मुरुगन की रचनाओं को पीछे छोड़ते हुए यह पुरस्कार जीता है।

जेसीबी पुरस्कार के लिए 31 मई 2018 तक प्रविष्टियां आमंत्रित की गई थीं। इसमें 19 राज्यों के लेखकों की रचनाएं शामिल थीं। 35 प्रविष्टियां महिला लेखकों की ओर से आई थीं। साहित्य के क्षेत्र में दिए जाने वाले इस पुरस्कार के लिए 10 उपन्यासों को शॉर्टलिस्ट किया गया था। 

जेसीबी पुरस्कार, देश में साहित्य के क्षेत्र में सबसे अधिक राशि प्रदान करने वाला पुरस्कार है। इस पुरस्कार के विजेता को 25 लाख रुपए का पुरस्कार प्रदान किया जाता है। इसके अलावा शीर्ष 4 अन्य सर्वश्रेष्ठ रचनाओं को 1-1 लाख रुपए का पुरस्कार दिया जाता है।