निकोलस मादुरो दूसरी बार वेनेजुएला के राष्ट्रपति चुने गये

0
93

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो को भारी विवादों के मध्य दोबारा वेनेजुएला का राष्ट्रपति चुना गया है। 10 जनवरी 2019 को निकोलस मादुरो को वेनेजुएला उच्चतम न्यायालय के प्रमुख माइकेल मोरेनो ने पद की शपथ दिलायी। मादुरो इस पद पर वर्ष 2019 से वर्ष 2025 तक बने रहेंगे।

निकोलस मादुरो वेनेजुएला के वर्तमान राष्ट्रपति और दिग्गज नेता हैं। वे यूनाइटेड सोशलिस्ट पार्टी ऑफ वेनेजुएला के प्रमुख नेताओं में से एक हैं। निकोलस वर्ष 2007 से पहले फिंफ्थ रिपब्लिक मूवमेंट पार्टी के सदस्य थे। वे देश के उप राष्ट्रपति भी रह चुके हैं। उस दौरान देश के राष्ट्रपति ह्यूगो चावेज़ थे। वर्ष 2006 में उन्हें विदेश मंत्री भी बनाया गया था।

निकोलस मादुरो को वेनेजुएला का दोबारा राष्ट्रपति बनने पर कई देशों ने आपत्ति और विरोध भी जताया है। कई पड़ोसी देशों ने उनकें शपथ ग्रहण का बहिष्कार भी किया है। निकोलस मादुरो को वेनेजुएला का राष्ट्रपति चुनने के विरोध में यूरोपीय संघ, अमेरिका, दक्षिण अमेरिका के पड़ोसी देश इत्यादि देश हैं।

चूंकि वेनेजुएला पिछले कुछ समय से भारी आर्थिक संकट से जूझ रहा है। इसलिए वहां पलायन की स्थिति बढ़ती जा रही है। परन्तु इसके बावजूद वेनेजुएला के सरकारी अनुदान प्राप्त करने वाले लोगों ने निकोलस मादुरो को दोबारा राष्ट्रपति पद के शपथ ग्रहण का स्वागत एवं समर्थन किया। निकोलस को आम चुनावों में 67.84 फीसदी मत मिले थे।