नासा ने सेरेस के डॉन मिशन के दूसरे विस्तार को मंजूरी दी

0
44

नासा ने मंगल और बृहस्पति के बीच क्षुद्रग्रह बेल्ट में सबसे बड़े ऑब्जेक्ट सेरेस के डॉन मिशन के दूसरे विस्तार को मंजूरी दे दी है। इस विस्तार के दौरान, अंतरिक्ष यान बौने ग्रह पर पहले से कहीं कम ऊंचाई पर उतर जाएगा। यूएस स्‍पेस एजेंसी ने बताया कि यह मिशन मार्च 2015 में शुरू हुआ था।

विस्‍तार को मिली मंजूरी के बाद अंतरिक्ष यान, जो पहले से 10 साल तक अंतरिक्ष में उड़ान भर चुका है, शेष समय विज्ञान की जांच के लिए सेरेस में काम जारी रखेगा और इसके ईंधन खत्‍म होने के बाद अपनी कक्षा में ही अनिश्चित काल के लिए स्थिर रहेगा।

बता दें कि जून 2016 में इसका प्रमुख मिशन पूरा हो गया था और इसके पहले विस्तार को उसी वर्ष मंजूरी दी गई थी। डॉन फ्लाइट टीम, डॉन को एक नई अण्डाकार कक्षा में चलाने के लिए तरीकों का अध्ययन कर रही है, जो अंतरिक्ष यान को निकटतम दृष्टिकोण से 200 किलोमीटर से कम की दूरी पर ले जा सके। इससे पहले, डॉन की सबसे कम ऊंचाई 385 किलोमीटर थी।

बता दें कि अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में यह पहला मौका था, जब कोई यान बौने ग्रह पर उतरा। पृथ्वी से लगभग 490 करोड़ किलोमीटर दूर की यह यात्रा तय करने में डॉन को करीब साढ़े सात साल लगे। इस दौरान 2011-2012 के बीच डॉन ने एक और क्षुदग्रह वेस्टा के बारे में जानकारी जुटाई थी। वेस्टा व सेरेस हमारे सौरमंडल के मंगल और बृहस्पति ग्रह के बीच आकाशीय पिंडों वाले प्रमुख क्षेत्र में स्थित है।