नवंबर समसामयिकी : भाग 2

0
111

इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का सारांश सम्मिलित किया जा रहा है। अपनी परीक्षा की तैयारी हेतु इसका ध्यानपूर्वक अध्ययन करें।

1. इकाना स्टेडियम का नाम वाजपेयी स्टेडियम:

6 नवंबर, 2018 को उत्तर प्रदेश सरकार ने लखनऊ स्थित इकाना क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर ‘भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम’ कर दिया। यह भारत का 52वां अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है। नामकरण के पश्चात 6 नवंबर, 2018 को भारत एवं वेस्ट इंडीज के बीच टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला गया।

उल्लेखनीय है पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी 1991 से 2009 लखनऊ लोकसभा क्षेत्र से पांच बार सांसद रहे।

2. कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग सूक अयोध्‍या दीपोत्‍सव की मुख्‍य अतिथि:

उत्‍तरप्रदेश में अयोध्‍या में दिवाली के अवसरपर दीपोत्‍सव आयोजित हुआ। भगवान राम की नगरी में रामायण और उससे जुड़े चरित्रों को दर्शाने वाली 15 शोभा यात्राएं और झाकिंयां निकाली गयीं । शोभा यात्राएं साकेत महाविद्यालय से शुरू हुईं और रामकथा पार्क में सम्‍पन्‍न हुयी, जहां मुख्‍य अतिथि कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग सूक थी।

दक्षिण कोरिया के राष्‍ट्रपति की पत्‍नी किम जोंगसू ने अयोध्‍या में रानी सूरी रत्‍ना के स्‍मारक पर जाकर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने रानी सूरी रत्‍ना के नए स्‍मारक की आधारशिला भी रखीं। ध्यान देने योग्य है कि इसी वर्ष जुलाई में भारत और दक्षिण कोरिया के बीचसूरी रत्‍ना स्‍मारक प्रोजेक्‍ट के विस्‍तार को लेकर समझौता हुआ था।

3. भारतीय तटरक्षक बल द्वारा गश्ती जहाज आईसीजीएस वाराह लॉन्च:

भारतीय तटरक्षक बल द्वारा गश्ती जहाज आईसीजीएस वाराह लॉन्च किया गया है। यह गश्ती जहाज समुद्र के तटीय इलाकों में गश्त करने के लिये लाया गया है। यह एक ऑफशोर पट्रोल वेसल है, इसे चेन्नई के लार्सन एंड टुब्रो कट्टुपल्ली शिपयार्ड में लांच किया गया है। यह 98एम ओपीवी श्रेणी का चौथा गश्ती जहाज है। इसका निर्माण लार्सेन एंड टुब्रो द्वारा स्वदेशी रूप से निर्मित किया गया है।

इस जहाज में एडवांस्ड नेविगेशन तथा संचार उपकरण, सेंसर तथा मशीनरी का उपयोग किया गया है। इसमें 30 मिमी तथा दो 12.7 मिमी गन का उपयोग किया गया है। इसकी अधिकतम गति 26 नॉट है। इसमें इंटीग्रेटेड ब्रिज सिस्टम, ऑटोमेटेड पॉवर मैनेजमेंट, इंटीग्रेटेड प्लेटफार्म मैनेजमेंट हाई पॉवर एक्सटर्नल फायर फाइटिंग सिस्टम का उपयोग किया गया है।

4. फैजाबाद को अयोध्या नाम से जाना जायेगा:

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की। उन्होंने अयोध्या में मेडिकल कॉलेज का नाम राजर्षि दशरथ और एयरपोर्ट का नाम हिंदुओं के आराध्य राम के नाम पर करने की घोषणा की। इससे पहले मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम पंडित दीन दयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन और इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया जा चुका है।

फैजाबाद:

फ़ैज़ाबाद की स्थापना अवध के पहले नबाव सादत अली ख़ां ने 1730 में की थी और उन्होंने इसे अपनी राजधानी बनाया, लेकिन वह यहाँ बहुत कम समय व्यतीत कर पाए। तीसरे नवाब शुजाउद्दौला यहाँ रहते थे और उन्होंने नदी के तट 1764 में एक दुर्ग का निर्माण करवाया था; उनका और उनकी बेगम का मक़बरा इसी शहर में स्थित है। 1775 में अवध की राजधानी को लखनऊ ले जाया गया। 19वीं शताब्दी में फ़ैज़ाबाद का पतन हो गया।