नवंबर समसामयिकी : भाग 1

0
98

इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का सारांश सम्मिलित किया जा रहा है। अपनी परीक्षा की तैयारी हेतु इसका ध्यानपूर्वक अध्ययन करें।

1. मैरी कॉम को महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की ब्रांड एंबेसडर बनाया गया:

ओलंपिक पदक विजेता और भारत की स्टार मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम को इंटरनेशनल बॉक्सिंग एसोसिएशन यानी आईबा के अंतर्गत होने वाली 10वीं विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप के ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया गया है। मैरीकॉम पांच बार की विश्व विजेता हैं। इसके अलावा मैरी ने साल 2014 में एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल भी जीता है।

10वीं महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप 15 से 24 नवंबर के बीच होनी है। यह अब तक की सबसे बड़ी विश्व चैंपियनशिप होगी, जिसमें 73 देशों से 325 से ज्यादा मुक्केबाज हिस्सा लेंगे। इन देशों में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, यूक्रेन, जर्मनी, थाईलैंड, इंग्लैंड और बुल्गारिया शामिल हैं।

महिला विश्व चैंपियनशिप 2018 के लिए भारतीय टीम इस प्रकार है- मैरीकॉम (48 किग्रा), पिंकी जांगड़ा (51), मनीषा मौन (54), सोनिया (57), एल सरिता देवी (60), सिमरनजीत कौर (64), लवलीना बोरगोहेन (69), स्वीटी बूरा (75), भाग्यवती कचरी (81) और सीमा पूनिया (81+)।

2. अनुपम खेर ने एफटीआईआई के चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया:

अनुपम खेर ने फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया है। ऐसा उन्होंने अपने इंटरनेशनल टीवी शो के लिये किया है। उन्होंने अपने त्यागपत्र में कहा कि कि एफटीआईआई की जिम्मेदारी के चलते वे इस पर फोकस नहीं कर पा रहे थे। खेर को अक्टूबर 2017 में एफटीआईआई का चेयरमैन बनाया गया था।

भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान भारत के पुणे शहर में स्थित हैं। यह संस्थान भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत एक स्वशासी संस्था है। वर्ष 1960 में पुणे के प्रभात स्टूडियो परिसर में इस संस्थान को स्थापित किया गया था। विगत वर्षो में भारतीय फिल्म और टेलिविज़न संस्थान के छात्रों ने भारतीय एवं अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा एवं टेलिविज़न के छेत्र में काफी नाम कमाया है।

3. सुरक्षित नगर परियोजना को मंजूरी:

गृह मंत्रालय ने 1 नवंबर, 2018 को निर्भया कोष योजना के अंतर्गत लखनऊ के लिए 194.44 करोड़ रुपये की सुरक्षित नगर परियोजना को मंजूरी दी । यह परियोजना केंद्र प्रायोजित होगी और इसमें 60:40 अनुपात में केंद्र और राज्य राशि लगाएंगे।

यह स्वीकृति 8 चयनित शहरों – मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बैंगलुरू, हैदराबाद, अहमदाबाद तथा लखनऊ में सुरक्षित नगर परियोजनाओं को लागू करने की योजना के भाग के रूप में दी गई है।

इसका उद्देश्य निर्भया कोष के अंतर्गत सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत बनाना है। यह परियोजना महिला और बाल विकास मंत्रालय, शहरी विकास मंत्रालय, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, संबंधित शहरों की महापालिकाओं तथा पुलिस आयुक्तों और सिविल सोसायटी संगठनों के परामर्श से लागू की जा रही है।