डोनाल्ड ट्रम्प ने यरुशलम को इज़राइल की राजधानी घोषित किया

0
16

अमेरिका ने 6 दिसम्बर 2017 को इज़रायल की राजधानी के तौर पर यरुशलम को मान्यता दे दी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तेल अवीव से अमेरिकी दूतावास को यरुशलम स्थानांतरित करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए विदेश मंत्रालय को आदेश भी दिए। श्री ट्रंप ने इस्राइल-फलस्तीन संघर्ष के समाधान के लिए दो राष्ट्र के सिद्धांत पर प्रतिबद्धता दोहराई।

डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा की गयी इस घोषणा की अरब देशों में पुरजोर निंदा हो रही है। उनके इस निर्णय का अरब लीग के 57 देशों ने विरोध किया है। अरब लीग के देशों ने कहा है कि वे 12 दिसंबर को इस संबंध में बैठक करेंगे। इस्राइल के प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतन्याहू ने इसे ऐतिहासिक, साहसिक और न्यायोचित कदम बताया है।

यरुशलम:

यरुशलम यहूदी, ईसाई और इस्लाम धर्म की पवित्र नगरी है। यरुशलम यहूदियों का परमपवित्र सुलेमानी मन्दिर हुआ करता था, जिसे रोमनों ने नष्ट कर दिया था। यह स्थान ईसा मसीह की कर्मभूमि रहा है तथा यरुशलम हज़रत मुहम्मद से भी जुड़ा रहा है। इस शहर में 158 गिरिजाघर तथा 73 मस्जिदें स्थित हैं।

इज़रायल यरुशलम को अपनी राजधानी बताता है, वहीं दूसरी तरफ फलस्तीेन भी इजरायल को अपने भविष्य के राष्ट्र की राजधानी बताता है। संयुक्त राष्ट्र और विश्व के अधिकतर देश यरुशलम पर इज़रायल के दावे को मान्यता नहीं देते।