डकोटा-डीसी 3 वीपी 905 भारतीय वायु सेना में शामिल हुआ

0
38

हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में भारतीय वायु सेना में डकोटा परि‍वहन विमान को दोबारा नवन‍िर्मि‍त कर अध‍िकारि‍क रूप से शामि‍ल क‍िया गया है। इस विमान को चार दशक से भी अधिक समय पहले वायु सेना से सेवानिवृत्त कर दिया गया था। अब इसे नया नाम “परशुराम” देकर पुन: लाया गया है।

इस व‍िमान को इंड‍ियन एयरफोर्स में शाम‍िल कराने में राज्यसभा सदस्य राजीव चंद्रशेखर की वि‍शेष भूमि‍का है। चंद्रशेखर ने ही डकोटा डीसी-3 वीपी-905 विमान को कबाड़ से खरीदकर ब्रिटेन में नवीनीकृत कराया है।

डकोटा व‍िमान ने बीती 17 अप्रैल को ब्रिटेन से भारत के लिए अपनी यात्रा शुरू की थी। इसने 9,750 किमी की यात्रा में के दौरान फ्रांस, इटली, ग्रीस, जॉर्डन, बहरीन व ओमान में ठहराव लिया। इसके बाद 25 अप्रैल को जामनगर स्थित एयर फोर्स स्टेशन पहुंचा।

डकोटा को 1930 में रॉयल इंडियन एयरफोर्स में शामिल किया गया था। इस व‍िमान ने द्वितीय विश्वयुद्ध के अलावा 1947 और 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध में भी खास भूमि‍का न‍िभाई थी। 1947 के युद्ध में भारत की जीत और कश्मीर की सुरक्षा में इसका योगदान व‍िशेष योगदान था।