ट्राइडेंट जंक्चर 2018ः नाटो का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास

0
125

25 अक्टूबर, 2018 को नॉर्वे में नाटो का सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास ‘ट्राइडेंट जंक्चर 2018ः’ (Trident Juncture 2018) आरंभ हुआ। यह अभ्यास 7 नवंबर तक चलेगा। इस अभ्यास में 29 नाटो देश व दो साझीदार देशों फिनलैंड व स्वीडेन के 50,000 सैनिक, 10,000 वाहन, 65 पोत व 250 वायुयान हिस्सा ले रहे हैं। यह अभ्यास जल, थल व वायु, तीनों जगहों पर हो रहा है। इस अभ्यास के कमांडर एडमिरल जेम्स जी. फॉगो हैं।

इस सैन्य अभ्यास के पीछे NATO का उद्देश्य सैन्य बलों की ताकत आंकना और प्रशिक्षण देना तो हैं ही साथ ही Very High Readiness Joint Task Force (VJTF) की शक्ति जांचना भी है। गौरतलब है कि NATO ने VJTF का गठन वर्ष 2014 में उस वक्त किया था जब रूस ने यूक्रेन के क्रीमिया प्रायद्वीप पर कब्जा कर लिया था और वहां अलगाववादियों को समर्थन दिया था।

नॉर्वे, NATO के उन पांच सदस्यों में से एक है जिसकी सीमा रूस से लगती है। रूस ने इस अभ्यास की निंदा की है।

ट्राइडेंट श्रृंखला का पहला अभ्यास 2015 में स्पेन व पुर्तगाल में आयोजित हुआ था।

नाटो:

उत्‍तरी एटलांटिक संधि संगठन (North Atlantic Treaty Organization : NATO) एक सैन्य गठबंधन है, जिसकी स्थापना 4 अप्रैल, 1949 को हुई। इसका मुख्यालय ब्रुसेल्स(बेल्जियम) में है। नाटो के फिलहाल 29 सदस्य हैं। मॉण्टेनिग्रो इसका नवीनतम सदस्य है। वर्ष 2017 में मॉण्टेनिग्रो नाटो का सदस्य बना।