टीएम कृष्णा को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार

0
63

कांग्रेस पार्टी ने प्रतिष्ठित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार की घोषणा कर दी है। कर्नाटक शैली के प्रसिद्ध संगीतकार एवं समाजसेवी टी एम कृष्णा को राष्ट्रीय एकता और सद्भावना को बढ़ावा देने के लिए 31 अक्टूबर को तीसवां इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सम्मानित करेंगी।

उन्हें देश की एकता को बढ़ावा देने के लिए यह पुरस्कार दिया जा रहा है। कृष्णा भारतीय शास्त्रीय संगीत की कर्नाटक विधा के न केवल मशहूर गायक हैं बल्कि एक कार्यकर्ता भी हैं जिन्होंने जाति की बाधा तोडऩे के लिए भी काम किया है। इन्‍हें 2016 में संस्कृति में सामाजिक समग्रता लाने के लिए रेमन मैगससे पुरस्कारसे भी नवाजा जा चुका है।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय एकता पुरस्कार एक प्रतिष्ठित पुरस्कार है जिसे 1985 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा स्थापित किया गया था। पुरस्कार के तहत दस लाख रुपए नकद और प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। कांग्रेस ने अपनी स्थापना के शताब्दी वर्ष में इस पुरस्कार की शुरूआत की थी। यह पुरस्कार उन व्यक्तियों और संस्थाओं को प्रदान किया जाता है, जिन्होंने राष्ट्रीय एकता और सद्भावना को बढ़ाने की दिशा में उल्लेखनीय योगदान किया है।

इससे पहले जिन व्यक्तियों और संस्थाओं को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है, उनमें रामकृष्ण मिशन के स्वामी रंगानाथानंद, प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी श्रीमती अरुणा आसफ अली, कर्नाटक शैली की सुप्रसिद्ध गायिका श्रीमती एम एस सुब्बुलक्ष्मी, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (मरणोपरांत), पूर्व राष्ट्रपति डॉ ए पी जे अब्दुल कलाम और डॉ शंकर दयाल शर्मा, जाने माने फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल, सुप्रसिद्ध लेखिका महाश्वेता देवी, फिल्म गीतकार जावेद अख्तर, संगीतकार ए आर रहमान और रामकृष्ण मिशन, जाने माने फिल्म निर्देशक एवं गीतकार गुलजार, प्रसिद्ध कृषि वैज्ञानिक एम एस स्वामीनाथन आदि प्रमुख हैं।