जनवरी समसामयिकी : भाग 3

0
166

इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का सारांश सम्मिलित किया जा रहा है। अपनी परीक्षा की तैयारी हेतु इसका ध्यानपूर्वक अध्ययन करें।

1. दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस 2019 समारोह के मुख्य अतिथि:

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति साइरिल रामाफोसा गणतंत्र दिवस 2019 समारोह के मुख्य अतिथि होंगे।  वे 25 और 26 जनवरी को भारत के दौरे पर रहेंगे। राष्ट्राध्यक्ष के रूप में राष्ट्रपति रामाफोसा की यह पहली भारत यात्रा है। पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के बाद गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने वाले वे दक्षिण अफ्रीका के दूसरे राष्ट्रपति हैं।

2. प्रधानमंत्री ने लाल किले में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस संग्रहालय का उद्घाटन किया:

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 23 जनवरी, 2019 को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 122वीं जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि अर्पित की और लाल किले में नेताजी सुभाष संग्रहालय का उद्घाटन किया। इसी भवन में  कर्नल प्रेम सहगल, कर्नल गुरुबख्श सिंह ढिल्लों और मेजर जनरल शाह नवाज खान पर औपनिवेशिक शासकों ने मुकदमा चलाया था। इस संग्रहालय में आजाद हिंद फौज और सुभाष चन्द्र बोस से संबंधित चीजों को प्रदर्शित किया जायेगा।

इस संग्रहालय में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस द्वारा तैयार की गई लकड़ी की कुर्सी और तलवार रखे गये हैं। इसके अलावा भारतीय आजाद हिंद फौज आईएनए से संबंधित पदक, बैज, वर्दी और अन्य वस्तुएं शामिल हैं।

नेता जी द्वारा संगठित की गई आजाद हिंद फौज के खिलाफ जो मुकदमा दर्ज किया गया था उसकी सुनवाई लालकिले में हुई थी यही कारण है कि नेता जी सुभाष चन्द्र बोस नामक संग्रहालय की स्थापना लाल किले में की गई है।

3. जीएसटी अपीलीय न्यायाधिकरण के गठन को मंजूरी:

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 23 जनवरी को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) अपीलीय न्यायाधिकरण (GSTAT) की राष्ट्रीय पीठ के गठन को मंजूरी प्रदान की। जीएसटी के तहत राज्यों के बीच होने वाले विवाद के निपटान के लिए इस न्यायाधिकरण का गठन किया गया है। इस न्यायाधिकरण में अध्यक्ष के अलावा केन्‍द्र और राज्‍यों से एक-एक तकनीकी सदस्‍य होंगे। जीएसटी विवाद निपटारे के गठित ये पीठ नई दिल्‍ली में होगी।

4. राजस्थान के ग्रामीण स्कूलों में ‘बाल सभा’ अभियान का शुभारंभ:

राजस्थान सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों के अपर प्राइमरी स्कूलों में विभिन्न मुद्दों की पहचान एवं उनका समाधान करने के लिए ‘बाल सभा’ अभियान का शुभारंभ किया है। इस सभा में बच्चों के अलावा अभिभावक, शिक्षक एवं गांव के वरिष्ठ लोग शामिल होंगे। शिक्षा से जुड़े सभी हितधारकों की भागीदारी के द्वारा राज्य सरकार इस अभियान के माध्यम से गुणवत्ता युक्त शिक्षा को बढ़ावा देना चाहती है।