चीन ने विश्व के सबसे बड़े परिवहन ड्रोन का सफल परीक्षण किया

0
143

16 अक्टूबर 2018 को चीन ने विश्व के सबसे बड़े मानवरहित परिवहन ड्रोन ‘फीहोंग-98’ का सफल परीक्षण किया। यह परिवहन ड्रोन डेढ़ टन तक भार ढो सकता है। इस परिवहन ड्रोन का विकास ‘चाइना एकेडमी आफ एयरोस्पेस इलेक्ट्रोनिक्स टेक्नोलोजी’ ने किया है।

  • रिपोर्ट के अनुसार यह ड्रोन 4500 मीटर तक की ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है।
  • इस ड्रोन की गति 180 किलोमीटर प्रति घंटा है।
  • इसकी उड़ान की अधिकतम सीमा 1200 किलोमीटर है।
  • अत्याधुनिक तकनीक से लैस यह ड्रोन सामान्य रूप से उड़ान भर सकता है और इसकी लागत भी अधिक नहीं है। गौरतलब है कि चीन मानवरहित विमानों के विकास में आगे रहा है।

ड्रोन:

ड्रोन यह आधुनिक युग का एक नवीन प्रकार का विमान है। इसमे चालाक नही होता। इसके स्थान पर इसे सुदूर स्थान से नियंत्रित किया जाता है। इसका प्रयोग जासूसी करने, बिना आवाज किए मिसाइल हमला करने हेतु किया जाता है।

यह भी ध्यान देने योग्य है कि चीन की एक खनन कंपनी ने हाल ही में एक सुपरसोनिक मिसाइल के सफल परीक्षण का दावा किया है। इसे भारत-रूस के संयुक्त मिसाइल ब्रह्मोस के संभावित प्रतिद्वंद्वी के तौर पर देखा जा रहा है। इस मिसाइल को युद्धक विमानों और युद्धपोतों में तैनात किया जा सकता है। इस मिसाइल में चीनी कंपनी ने 18.8 करोड़ डॉलर का निवेश किया है।