गूगल ने डायरेक्ट स्पीच टू स्पीच ट्रांसलेशन सिस्टम की घोषणा की

0
38

सर्च इंजन गूगल ने अपने पहले ‘डायरेक्ट स्पीच टू स्पीच ट्रांसलेशन सिस्टम’ की घोषणा की है। गूगल की इस नई मौखिक संचार प्रणाली का नाम ट्रांसलेटोट्रोन रखा गया है। इस नई प्रणाली के तहत गूगल को बोलकर दिये गए निर्देशों का वह दूसरी ऐच्छिक भाषा में तुरंत सटीक अनुवाद करके दे सकता है।

‘ट्रांसलेटोट्रोन’ एक श्रृंखला से दूसरी श्रृंखला के नेटवर्क पर काम करता है। इसका स्रोत ‘स्पेक्ट्रोग्राम्स’ हैं, जो इनपुट दृश्य आवृत्तियों की पहचान करके लक्षित भाषा में अनुवाद करते हैं।

गूगल के इस स्पीच ट्रांसलेटर का इस्तेमाल अधिक सुविधाजनक तो है ही, इसका अनुवाद भी ज़्यादा सटीक और सहज है। ‘ट्रांसलेटोट्रोन’ नाम का यह अनुवादक बोलने वाले व्यक्ति की आवाज़ की विशेषताओं को भी अनुवाद के दौरान बरकरार रखता है।