केंद्र सरकार ने ’दिव्यांग सारथी’ एप का शुभारंभ किया

0
18

सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने ‘’दिव्‍यांग सारथी’’ मोबाइल एप का उद्घाटन किया। यह मोबाइल के बीटा संस्करण पर संचालित किया जा सकेगा। यह दिव्यांगजनों को सुविधाजनक होगा। वर्ष 2011 की जनसंख्या के अनुसार भारत में 2.68 करोड़ से अधिक ‘दिव्यांगजन’ हैं, जो कुल जनसंख्या के 2.2 प्रतिशत से अधिक हैं।

केंद्र सरकार के अनुसार यह मोबाइल एप्लीकेशन ‘दिव्यांगजनों’ को सशक्त बनाने हेतु प्रेरित करेगा ताकि उन्हें आसान और सुविधाजनक सूचना मिल सके। इससे उन्हें एक बटन दबाकर योजनाओं, छात्रवृत्तियों, प्रणाली से संबंधित संस्थागत सहायता और अन्य महत्वपूर्ण प्रासंगिक जानकारियां प्राप्‍त हो सकेंगी।

मोबाइल एप्लीकेशन ‘दिव्‍यांगसारथी’ को यूनिवर्सल एक्सेस के यूएनसीआरपीडी के सिद्धांतों और दिव्यांगजनों के अधिकार अधिनियम 2016 के प्रावधानों के अनुरूप तैयार किया गया है।

इस अधिनियम में यह प्रावधान है कि सभी जानकारियों को एक सरल प्रारूप में उपलब्ध कराई जानी चाहिए। यह एप्लीकेशन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 3 दिसम्बर 2015 का शुरू किए गए सुगम्य भारत अभियान के आईसीटी घटक का एक अभिन्न हिस्सा है।

उद्देश्य:

मोबाइल एप्लीकेशन का उद्देश्य, सामाजिक न्याय और आधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग से संबंधित विभिन्न उपयोगी जानकारियों जैसे विभि‍न्न नियमों, दिशा-निर्देशों, योजनाओं, रोजगार संबंधी अवसरों के बारे में दिव्यांगजनों को सरल प्रारूप में जानकारी उपलब्ध कराना है।

इस एप्लीकेशन को दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के दो सहायक सचिवों अनुनय झा और बी सुशीला द्वारा तैयार किया गया है।

दिव्यांग सारथी मोबाइल एप:

‘दिव्‍यांग सारथी’ मोबाइल एप की मुख्य विशेषता इसके ओडियो नोट्स हैं, जो लिखित जानकारी को ओडियो फाइल में परिवर्तित करते हैं और साथ ही उपयोगकर्ता की आवश्यकता के अनुसार फॉण्ट का आकार भी बदल सकते हैं। इस मोबाइल एप्लीकेशन को दोनों भाषाओं हिन्दी तथा अंग्रेजी के अनुरूप तैयार किया गया है। यह मोबाइल एप डाउनलोड के लिए गूगल प्‍ले स्‍टोर में उपलब्ध रहेगा।