एपी महेश्वरी पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो के महानिदेशक नियुक्त

0
60

केंद्र सरकार ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के विशेष महानिदेशक एपी महेश्वरी को पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल की नियुक्ति संबंधी समिति ने महेश्वरी की नियुक्ति पर अपनी मुहर लगा दी है।

महेश्वरी 1984 बैच के यूपी कैडर के अधिकारी हैं। उनकी यह नियुक्ति उनके सेवानिवृति 28 फरवरी 2021 तक अथवा अगले आदेश तक की गई है।

इसके अलावा, ए.आर.के. किनी के 30 नवम्बर को सेवानिवृत्त होने के कारण उनकी जगह भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी एसके सिन्हा को तैनात किए जाने का फैसला किया गया है।

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो:

पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो की स्थापना पुलिस बलों के आधुनिकीकरण के बारे में भारत सरकार के उद्देश्य को पूरा करने के लिए 28 अगस्त, 1970 को की गई थी। अब यह बहुआयामी एवं परामर्शदाता संगठन है और इसके चार प्रभाग हैं। 

अनुसंधान प्रभाग: अनुसंधान प्रभाग देश की पुलिस सेवाओं की आवश्यकताओं और समस्याओं का पता लगाकर विभिन्न शैक्षिक व पेशेवर संस्थाओं के सहयोग से इस क्षेत्र में अनुसंधान करता है। साथ ही साथ वह इस अनुसंधान के लिए प्रोत्साहन और मार्गदर्शन भी प्रदान करता है। 

विकास प्रभाग: इस प्रभाग में भारत और अन्य देशों में पुलिस कार्य के लिए प्रयुक्त की जा रही विज्ञान और प्रौद्योगिकी की तकनीकों के क्षेत्र में हो रहे विकास संबंधी जानकारी रखी जाती है। इसके अतिरिक्त यह नई कार्य पध्दतियों का भी अध्ययन करता है ताकि उपयुक्त उपकरण व तकनीकें अपनाई जा सकें।

प्रशिक्षण प्रभाग: पुलिस प्रशिक्षण के बारे में गठित समिति की सिफारिश के आधार पर प्रशिक्षण प्रभाग की स्थापना सितंबर १९७३ को की गई। इसकी स्थपना देश के पुलिस बलों की प्रशिक्षण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए केन्द्रीय पुलिस प्रशिक्षण निदेशालय के रूप में की गई।

दोष-सुधार प्रशासन प्रभाग: गृह मंत्रालय ने पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो में दोष सुधार प्रशासन प्रभाग की स्थापना की। कारागार प्रशासन को प्रभावित करने वाली समस्याओं का अध्ययन करना और इस विषय में अनुसंधान एवं प्रशिक्षण को बढावा देने का कार्य भी शामिल है।