एचडीएफसी बैंक देश का शीर्ष ब्रांड बना

0
21

निजी क्षेत्र की एचडीएफसी बैंक इस वर्ष भी देश का शीर्ष बना हुआ है। एचडीएफसी बैंक रैकिंग के मामले में लगातार चौथे साल शीर्ष पर है। रिसर्च फर्म कंटार मिलवर्ड ब्राउन ने सर्वेक्षण के बाद यह रिपोर्ट जारी की है। रिसर्च फर्म कंटार मिलवर्ड ब्राउन ब्रांड्जइंडिया टॉप-50 की सूची तैयार करती है।

एचडीएफसी बैंक की ब्रांड वैल्यू वर्ष 2014 के मुकाबले लगभग दोगुना हो गई। रिसर्च फर्म कंटार मिलवर्ड ब्राउन के अनुसार एचडीएफसी ब्रांड का मूल्य 18 अरब डॉलर (करीब 1,120 अरब रुपये) है1 इस सूची में पहली बार रिलायंस जियो को भी स्थान दिया गया है। वह शीर्ष 50 ब्रांडों में 11वें नंबर पर है।

ब्रांड्ज इंडिया सूची के अनुसार एचडीएफसी बैंक ने वर्ष 2014 से लगातार अपने ब्रांड मूल्य में इजाफा किया। प्रमुख नाम टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जियो का है। इस कंपनी ने 11वां स्थान हासिल किया है। इसके अलावा डीमार्ट, व्हर्लपूल, बजाज आलियांज, केनरा बैंक, सन डायरेक्ट और डिश टीवी भी इस सूची में शामिल हुए हैं।
सर्वे के अनुसार भारत के सबसे मूल्यवान ब्रांड्स बीते वर्ष अपनी ब्रांड वैल्यू में 21 फीसदी तक के इजाफे के साथ 109.3 बिलियन डॉलर के स्तर पर पहुंच गए। रिपोर्ट के अनुसार वित्तीय सेवाओं की श्रेणी में 26 फीसदी तक का उछाल देखने को मिला। इनमें से सबसे तेजी से बढ़ने वाले बैंकों में पंजाब नेशनल बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक सम्मिलित है।
एचडीएफसी बैंक निजी क्षेत्र का भारत का प्रमुख बैंक है। मुंबई, भारत में इसकी स्थापना अगस्त 1994 में हुई। एचडीएफसी बैंक ने जनवरी 1995 में एक अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के रूप में कार्य शुरू किया। एचडीएफसी बैंक में मोबाइल बैंकिंग भी हिंदी में उपलब्ध है। इसके शाखाओं की अधिकतम संख्या मुंबई और नई दिल्ली में है।