उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन किया गया

0
13

12 मार्च, 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्राँस के राष्ट्रपति इमानुल मैक्रोन ने उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर ज़िले में राज्य के सबसे बड़े सौर ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन किया। इस संयंत्र की स्थापना उत्तर प्रदेश नवीन और नवीनीकरण ऊर्जा विकास अभिकरण (नेडा) और फ्रेंच कंपनी सोलर डायरेक्ट ने मिलकर की है। इसे नेशनल ग्रिड से जोड़े जाने की भी योजना है।

मुख्‍य बिंदू:

  • यह प्रदेश का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा संयंत्र है।
  • इस संयंत्र की उत्पादन क्षमता 75 मेगावाट है।
  • मिर्ज़ापुर से 25 किलोमीटर दूर अवस्थित दादरकलां में स्थापित किये गए इस सौर ऊर्जा संयंत्र पर 560 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं।
  • इस संयंत्र में 3,18,650 सौर प्लेटें लगाई गई हैं और प्रत्येक प्लेट 315 वाट विद्युत का उत्पादन करने में सक्षम है। इस संयंत्र से प्रतिदिन पाँच लाख यूनिट विद्युत उत्पादन होगा, जिससे लगभग एक लाख परिवार लाभान्वित होंगे।
  • भारत सरकार की ओर से इस परियोजना को 74.25 लाख रुपए प्रति मेगावाट की दर से व्यवहार्यता अंतराल वित्तपोषण (VGF) प्रदान किया गया है।
  • यह  सौर पार्क लखनऊ सोलर पार्क डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (LSPDC), जो भारत सरकार के नियंत्रणाधीन उपक्रम भारतीय सौर ऊर्जा निगम लि. (SECI) और वैकल्पिक ऊर्जा संस्थान (NEDA), उत्तर प्रदेश का संयुक्त उपक्रम है, के अधीन स्थापित किया जा रहा हैं।
  • उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में 50 मेगावाट क्षमता का सौर संयंत्र पहले ही स्थापित किया जा चुका है। जालौन जनपद में 40 मेगावाट क्षमता का सौर संयंत्र कमीशनिंग के लिये तैयार है।
  • इस सौर संयंत्र को मिलाकर उत्तर प्रदेश में कुल 165 मेगावाट क्षमता के सौर संयंत्र स्थापित हो चुके हैं।