इनफ़ोसिस पुरस्कार 2019

0
32

इनफ़ोसिस विज्ञान फाउंडेशन ने 11वीं वर्षगाँठ के अवसर पर इनफ़ोसिस पुरस्कार 2019 की घोषणा की। यह पुरस्कार 6 भिन्न-भिन्न श्रेणियों में प्रदान किया जायेगा। इन 6 पुरस्कारों के लिए 244 प्रविष्टियों में से विजेताओं को चुना गया, यह चुनाव वैज्ञानिकों और प्रोफेसरों की 6 सदस्यीय जूरी द्वारा किया गया। विजेताओं की सूची इस प्रकार है:

इंजीनियरिंग व कंप्यूटर विज्ञान : सुनीता सरवागी  

सुनीत सरवागी को डेटाबेस, डाटा माइनिंग, मशीन लर्निंग तथा नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग में अनुसन्धान के लिए सम्मानित किया गया।

मानविकी : मनु एस. देवादेवन  

प्रागैतिहासिक दक्षिण भारत पर विविध कार्य के लिए मनु वी. देवादेवन को सम्मानित किया गया।

जैव विज्ञान : मंजुला रेड्डी  

मंजुला रेड्डी को बैक्टीरिया में कोशिका भीति के क्षेत्र में शोध के लिए सम्मानित किया गया।

गणित : सिद्धार्थ मिश्रा

सिद्धार्थ मिश्रा को एप्लाइड मैथमेटिक्स के क्षेत्र में योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

भौतिक विज्ञान : मुगेश  

मुगेश को नैनोमैटेरियल्स तथा सूक्ष्म मॉलिक्यूल के क्षेत्र में शोध के लिए सम्मानित किया गया।

सामाजिक विज्ञान : आनंद पांडियन

आनंद पांडियन को नैतिकता इत्यादि पर कार्य के लिए सम्मानित किया गया।

इनफ़ोसिस पुरस्कार:

इनफ़ोसिस पुरस्कार एक वार्षिक पुरस्कार है, यह पुरस्कार अनुसंधानकर्ताओं, वैज्ञानिकों, सामाजिक वैज्ञानिकों और इंजिनियरों को प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार इनफ़ोसिस विज्ञान फाउंडेशन द्वारा दिया जाता है।

यह पुरस्कार जैव विज्ञान, गणित, इंजीनियरिंग व कंप्यूटर विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, भौतिक विज्ञान और मानविकी के क्षेत्र में दिया जाता है।

प्रत्येक विजेता को 22 कैरट का स्वर्ण पदक, एक प्रशस्ति प्रमाण पत्र तथा 100000 (72 लाख रुपये) डॉलर इनामस्वरुप दिए जाते हैं। यह भारत में वैज्ञानिक शोध के क्षेत्र में सबसे अधिक धनराशी वाला पुरस्कार है।