इको निवास संहिता 2018

0
153

हाल ही में विद्युत मंत्रालय ने इको निवास संहिता, 2018 (रिहायशी इमारतों हेतु ऊर्जा संरक्षण इमारत संहिता ECBC-R) की शुरुआत की है। इस संहिता के कार्यान्वयन से 2030 तक सालाना 125 अरब यूनिट बिजली की बचत होने की संभावना है जिससे लगभग 100 मिलियन टन कॉर्बन डाइआक्सा‍इड के उत्सर्जन को रोका जा सकेगा।

  • इस संहिता को लागू करने से रिहायशी क्षेत्रों में ऊर्जा की बचत होने की उम्‍मीद है। इसका उद्देश्‍य ऐसे अपार्टमेंट और नगरों का डिज़ाइन तैयार करना तथा उनके निर्माण को बढ़ावा देना है जिनमें रहने वालों को ऊर्जा की बचत का लाभ मिल सके।
  • इस संहिता को बिल्डिंग मैटीरियल आपूर्तिकर्त्ताओं, डेवलपर, वास्‍तुकारों और विशेषज्ञों सहित सभी साझेदारों के साथ विस्‍तृत विचार-विमर्श के बाद तैयार किया गया है।
  • आरंभ में संहिता के पहले भाग की शुरुआत ऊर्जा बचत वाली रिहायशी इमारतों के डिज़ाइन तैयार करने हेतु की गई है जिसमें इमारत के अंदर के हिस्‍से को शुष्‍क, गर्म और ठंडा रखने हेतु इमारत के बाहरी हिस्‍से की नींव के लिये न्‍यूनतम मानक निर्धारित किये गए हैं।
  • उम्‍मीद है कि इस संहिता से बड़ी संख्‍या में वास्‍तु-शिल्पियों और बिल्‍डरों को सहायता मिलेगी जो देश के विभिन्‍न भागों में नए रिहायशी परिसरों के डिज़ाइन तैयार करने तथा उनके निर्माण कार्य में शामिल हैं।