इंफोसिस के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट राजगोपालन ने इस्तीफा दिया

0
25

इंफोसिस के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट संजय राजगोपालन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इंफोसिस देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी है। इससे पहले इसी कंपनी के सीईओ विशाल‍ सिक्का भी इस्तीफा दे चुके हैं।

राजगोपाल द्वारा लिंक्‍डइन प्रोफाइल पर किये गये अपडेट में उन्‍होंने खुद को फ्री मेन बताया। इसके अलावा उनहोंने अपने इंफोसिस के कार्यकाल के बारे में जानकारी दी। उन्‍होंने अगसत 2014 से सितंबर 2017 तक कंपनी में 3 साल और 2 महीने काम किया।

सीनियर वाइस प्रेसिडेंट संजय राजगोपालन के कम्पनी छोड़ने के अंदाजे सिक्का के इंफोसिस से इस्तीफे के बाद से ही लगाए जा रहे थे। राजगोपालन उन व्यक्तियों में सम्मिलित थे जिन्हें सिक्का अपनी पूर्व कंपनी से इंफोसिस लेकर आए।

संजय राजगोपालन :

  • संजय राजगोपालन ने कंपनी में डिजाइन थिंकिंग के अलावा क्रिएटिव और समस्याओं के समाधान हेतु यूजर सेंट्रल अप्रोच को लीड किया. साथ ही कंपनी को इन चीजों को लागू करने में मदद की।
  • संजय राजगोपालन ने इसके अलावा मैसूर और दूसरे डेवलपमेंट सेंटर्स में कंपनी के सभी कर्मचारियों हेतु बड़े पैमाने पर डिजाइन थिंकिंग ट्रेनिंग सेशन आयोजित करने में भी मदद की।

इनफ़ोसिस : एक दृष्टि

  • इन्फोसिस लिमिटेड एक बहुराष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी सेवा कंपनी है जिसका मुख्यालय बेंगलुरु, भारत में स्थित है।
  • यह भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों में से एक है।
  • इसके भारत में 9 विकास केन्द्र हैं और दुनिया भर में 30 से अधिक कार्यालय हैं।
  • इन्फोसिस की स्थापना 02 जुलाई 1981 को पुणे में एन आर नारायण मूर्ति द्वारा की गई। इनके साथ और छह अन्य लोग थे, नंदन निलेकणी, एन एस राघवन,  गोपालकृष्णन, एस डी.शिबुलाल, के दिनेश और अशोक अरोड़ा।
  • इंफोसिस देश की दूसरी सबसे बड़ी साफ्टवेयर सेवा निर्यातक कंपनी भी है।
  • इंफोसिस के संरक्षक एवं संस्‍थापक सदस्‍य एन नारायणमूर्ति हैं।