अर्थ आवर डे 2018

0
124

अर्थ ऑवर डे प्रत्येक वर्ष मार्च माह के अंतिम शनिवार को मनाया जाता है। इस वर्ष 24 मार्च, 2018 को संपूर्ण विश्व में रात्रि 8:30 से 9:30 तक अर्थ ऑवर डे मनाया गया। इस वर्ष वर्ल्ड वाइड फंड (WWF) – भारत द्वारा ‘गिव अप टू गिव बैक’ नामक अभियान भी आरंभ किया गया। अर्थ ऑवर वर्ल्ड वाइड फंड का एक अभियान है। जिसका मकसद लोगों को बिजली के महत्व के प्रति और पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरुक करना है।

  • इस अभियान को सतत्, किफायती, संचालन में मदद और लागत में कमी के प्रति उपभोग संस्कृति में परिवर्तन और व्यावहारिक बदलाव को ग्रहण करने के एक अवसर के रूप में देखा जाना चाहिये।
  • अर्थ ऑवर ग्रीन गुड डीड्स मूवमेंट’ का भी अभिन्न हिस्सा है जिसमें प्रत्येक व्यक्ति की यह ज़िम्मेदारी है कि वह पर्यावरण और पृथ्वी की सुरक्षा एवं संरक्षण के लिये एक छोटा, स्वैच्छिक हरित कार्य करने का ज़िम्मा ले। 
  • इसके लिये आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति पौधा लगाने, कूड़ें को छाँटने, दफ्तर जाने में साइकिल या कार-पूल का इस्तेमाल करने या फिर प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने जैसे एक ग्रीन गुड डीड को रोज़ाना के रूटीन में अपनाए।
  • अर्थ आवर पर्यावरण के लिये दुनिया का एक बड़ा आंदोलन है जिसमें दुनिया भर के लोग एक घंटे तक ग़ैर-जरूरी बिजली बंद करके जलवायु परिवर्तन के खिलाफ रुख अख्तियार करने के लिये एकजुट होते हैं।
  • अर्थ आवर प्रकृति के लिये विश्वव्यापी फंड-डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की एक वैश्विक पहल है जिसमें रिकॉर्ड 178 देश शामिल होते हैं।
  • वर्ष 2007 में सिडनी से सांकेतिक तौर पर आरंभ हुआ यह आंदोलन आज पर्यावरण के संबंध में विश्व का सबसे व्यावहारिक आंदोलन बन चुका है। यह वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर (World Wide Fund for Nature) की एक वैश्विक पहल है।

WWF:

ये दुनिया की सबसे बड़ी इंडिपेंडेंट कंन्जरवेशन ऑर्गेनाइजेशन संस्था है। इसका उद्देश्य प्रकृति के नुकसान को रोकना और मानव भविष्य को बेहतर बनाना है। World Wildlife Foundation`s Earth Hour ने लोगों को बिजली के महत्व के प्रति और पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरुक करने के उद्देश्य से एक अभियान चला रखा है। 2007 में जब इसने सिडनी में पर्यावरण सुरक्षा का संदेश देने के लिए एक घंटे लाइटें बंद कराई थीं तब इसे ज्यादा पहचान मिली थी। इसके बाद करीब 162 देशों में लाइटें बंद करने का ये अभियान फैलता चला गया।