अमेरिका ने रूस के साथ परमाणु संधि समाप्त करने की घोषणा की

0
121

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने रूस के साथ हुए ‘मध्यम दूरी परमाणु शक्ति संधि’ (आईएनएफ) से अमरीका के अलग होने की घोषणा की है। यह समझौता 1987 में रूस के साथ शीत युद्ध के दौरान किया गया था जिसपर तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन और रूसी राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाचेव ने हस्ताक्षर किए थे।

यह संधि अमेरिका तथा रूस को 300 से 3,400 मील दूर तक मार करने वाली जमीन से छोड़े जाने वाली क्रूज मिसाइल के निर्माण को प्रतिबंधित करती है। इसमें सभी जमीन आधारित मिसाइलें शामिल हैं। इसमें सभी जमीन आधारित मिसाइलें शामिल हैं। मध्यम दूरी परमाणु शक्ति (आईएनएफ) संधि की अवधि अगले दो साल में खत्म होनी है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि जब तक दूसरे देश इसका उल्लंघन करते रहेंगे तब तक अमेरिका इस समझौते का पालन नहीं करेगा। इस बीच, रूस के विदेश मंत्रालय ने कहा कि रूस के साथ ऐतिहासिक परमाणु संधि से अलग होने का अमेरिका का कदम अकेले वैश्विक महाशक्ति बनने के सपने से प्रेरित है। ट्रंप ने कहा कि जब तक रूस और चीन हमारे पास नहीं आते और यह नहीं कहते कि उन हथियारों का निर्माण नहीं करेंगे, तब तक हमें उन हथियारों को बनाना होगा। अगर रूस और चीन यह कर रहे हैं, और हम समझौते का पालन कर रहे हैं तो यह अस्वीकार्य है।

अमेरिका का आरोप है कि रूस ने अमेरिका के पश्चिमी हिस्से के करीब पूर्व सोवियत राज्यों को डराने के लिए परमाणु हथियार तैनात किए, जो कि संधि का उल्लंघन है।