अप्रैल समसामयिकी : भाग 5

0
26

इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का सारांश सम्मिलित किया जा रहा है। अपनी परीक्षा की तैयारी हेतु इसका गहन अध्ययन करें।

1. वैज्ञानिकों ने गोवा में मेंढक की एक नयी प्रजाति की खोज की:

गोवा के पश्चिमी घाट के हिस्सों के हाईलैंड पठारों में, वैज्ञानिकों ने फेज़ेर्वर्या गोएमची (Fejervarya goemchi) नामक मेंढक की एक नई प्रजाति की पहचान की है। नई प्रजाति का नाम गोवा राज्य के ऐतिहासिक नाम पर रखा गया है, जहां प्रजाति की खोज की गई है। मानसून आने पर ये बड़े आकार के स्थलीय मेंढक जलीय स्थानों के आस-पास एकत्र होकर मादाओं को प्रजनन के लिए आकर्षित करने हेतु आवाज लगाते हैं। हालाँकि ये मेंढक स्थलीय हैं परन्तु जीवित रहने के लिए इन्हें जलीय स्थानों की आवश्यकता होती है।

2. चीन ने परमाणु मिसाइल ‘डोंगफेंग-26’ को सेना में शामिल की:

चीन ने 26 अप्रैल को मध्यम दूरी की मारक क्षमता वाली परमाणु संपन्न नई बैलिस्टिक मिसाइल को पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की रॉकेट फोर्स में शामिल किया। यह मिसाइल जमीन और समुद्र दोनों में अपने लक्ष्यों पर सटीक निशाना लगा सकती है। यह मिसाइल जमीन तथा बड़े एवं मध्यम आकार के युद्ध पोतों पर अपने लक्ष्यों पर निशाना साध सकता है।

3. पूर्वोत्तर राज्यों में भारतनेट लागू करने की योजना को मंजूरी:

पूर्वोत्तर राज्यों के सामरिक महत्व के मद्देनजर दूरसंचार आयोग ने इस क्षेत्र में भारतनेट लागू करने की विस्तृत योजना को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने 26 अप्रैल को ईटानगर में मुख्यमंत्री पेमाखांडू और अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने बताया कि इस वर्ष दिसंबर तक अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, मणिपुर और त्रिपुरा की ऐसी सभी ग्राम पंचायतों को सेटेलाइट के जरिए ब्रॉडबैंड से जोड़ दिया जाएगा, जहां अब तक यह सुविधा नहीं है।

4. आईसीसी  ने अपने सभी 104 सदस्‍य देशों को टी-20 इंटरनेशनल का दर्जा दिया:

अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने क्रिकेट को विश्व भर में लोकप्रिय बनाने के लिए अपने सभी मौजूदा 104 सदस्यों को टी20 अंतरराष्ट्रीय दर्जा देने का फैसला किया है। ज्ञातव्‍य है कि वर्तमान में केवल 18 सदस्‍य देशों को ही टी-20 अंतर्राष्‍ट्रीय मैच खेलने की मान्‍यता प्राप्‍त है। 

सभी सदस्य महिला टीमों को भी एक जुलाई 2018 से टी20 अंतरराष्ट्रीय का दर्जा दिया जाएगा जबकि पुरुष टीमों को एक जनवरी 2019 से यह दर्जा मिलेगा। महिला और पुरूष टीमों के रैंकिंग अक्तूबर 2018 और मई 2019 में लागू किया जाएगा।